Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jul 2016 · 1 min read

लडकियां उदास हो गईं……..

वहशियों का ग्रास हो गईं ,लडकियां उदास हो गईं,
भेडियो की बस्तियां भी ,अब शहर के पास हो गईं|
अपने मन की किससे कहें ,कबतलक यूं घर में रहें,
सड़कें राजधानी की क्यूं गले की फांस हो गईं|

–आर ० सी ० शर्मा “आरसी”

Language: Hindi
1 Comment · 383 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
You may also like:
खुशियों भरे पल
खुशियों भरे पल
surenderpal vaidya
थिरक उठें जन जन,
थिरक उठें जन जन,
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
✍️इंतज़ार के पल✍️
✍️इंतज़ार के पल✍️
'अशांत' शेखर
बूँद-बूँद से बनता सागर,
बूँद-बूँद से बनता सागर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पढ़े लिखे खाली घूमे,अनपढ़ करे राज (हास्य व्यंग)
पढ़े लिखे खाली घूमे,अनपढ़ करे राज (हास्य व्यंग)
Ram Krishan Rastogi
💐प्रेम कौतुक-408💐
💐प्रेम कौतुक-408💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
*माँ जननी सदा सत्कार करूँ*
*माँ जननी सदा सत्कार करूँ*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
विष्णुपद छंद और विधाएँ
विष्णुपद छंद और विधाएँ
Subhash Singhai
एक दिन यह समय भी बदलेगा
एक दिन यह समय भी बदलेगा
कवि दीपक बवेजा
क्वालिटी टाइम
क्वालिटी टाइम
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मानवता की चीखें
मानवता की चीखें
Shekhar Chandra Mitra
हर रोज़ ही हम।
हर रोज़ ही हम।
Taj Mohammad
नयनों मे प्रेम
नयनों मे प्रेम
Kavita Chouhan
बरखा रानी तू कयामत है ...
बरखा रानी तू कयामत है ...
ओनिका सेतिया 'अनु '
सुभाष चंद्र बोस
सुभाष चंद्र बोस
Anamika Singh
अंदाज़े मुहब्बत नया होगा
अंदाज़े मुहब्बत नया होगा
shabina. Naaz
"शादी की वर्षगांठ"
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
# होड़
# होड़
Dheerja Sharma
महाकविः तुलसीदासः अवदत्, यशः, काव्यं, धनं च जीवने एव सार्थकं
महाकविः तुलसीदासः अवदत्, यशः, काव्यं, धनं च जीवने एव सार्थकं
AmanTv Editor In Chief
■ विडम्बना
■ विडम्बना
*Author प्रणय प्रभात*
अँधेरी गुफाओं में चलो, रौशनी की एक लकीर तो दिखी,
अँधेरी गुफाओं में चलो, रौशनी की एक लकीर तो दिखी,
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
नजर  नहीं  आता  रास्ता
नजर नहीं आता रास्ता
Nanki Patre
"तोल के बोल"
Dr. Kishan tandon kranti
दानवीर सुर्यपुत्र कर्ण
दानवीर सुर्यपुत्र कर्ण
Ravi Yadav
ఇదే నా తెలంగాణ!
ఇదే నా తెలంగాణ!
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
ये पहाड़ कायम है रहते ।
ये पहाड़ कायम है रहते ।
Buddha Prakash
रावणदहन
रावणदहन
Manisha Manjari
पंक्षी पिंजरों में पहुँच, दिखते अधिक प्रसन्न ।
पंक्षी पिंजरों में पहुँच, दिखते अधिक प्रसन्न ।
Arvind trivedi
2367.पूर्णिका
2367.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
*गठरी बाँध मुसाफिर तेरी, मंजिल कब आ जाए  ( गीत )*
*गठरी बाँध मुसाफिर तेरी, मंजिल कब आ जाए ( गीत )*
Ravi Prakash
Loading...