Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Aug 2021 · 1 min read

रेलगाड़ी- ट्रेनगाड़ी

रेलगाड़ी- ट्रेनगाड़ी,
अद्भुत है इंजन गाड़ी,

डिब्बे चलते हैं पीछे-पीछे,
ढोती है खूब सवारी,

छुक-छुक करके चलती है,
दो पटरियों में दौड़ती है,

स्टेशन में ही रुकती है,
सिग्नल होने पर पटरियाँ बदलती हैं,

कूंँ- कूंँ-कूंँ तेज आवाज लगाती है,
बच्चे बूढ़े यात्री सवारी करते हैं सब,

बच्चों तुम भी खेलो खेल अब,
एक के पीछे एक खड़े हो रेल बना लो,

कोई एक इंजन बन जाओ,
सब बच्चों को मार्ग दिखाओ,

सिटी बजाकर रेल चलाओ ,
होती है मस्ती की सवारी ।

**बुद्ध प्रकाश
मौदहा हमीरपुर ।

6 Likes · 4 Comments · 454 Views
You may also like:
कर रहे शुभकामना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
नजदीक
जय लगन कुमार हैप्पी
माई री [भाग२]
Anamika Singh
बेबस-मन
विजय कुमार नामदेव
चिलचिलती धूप
Nishant prakhar
प्रारब्ध प्रबल है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
अशांत मन
Mahender Singh Hans
" स्वतंत्रता क्रांति के सिंह पुरुष पंडित दशरथ झा "
DrLakshman Jha Parimal
किताब का जादू
Shekhar Chandra Mitra
जिन्दगी की अहमियत।
Taj Mohammad
बारिश की ये पहली फुहार है
नूरफातिमा खातून नूरी
मदिरा और मैं
Sidhant Sharma
पढ़ाई कैरियर और शादी
विजय कुमार अग्रवाल
मैं तेरी आशिकी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कहानी
Pakhi Jain
आरंभ
Saraswati Bajpai
एक से नहीं होते
shabina. Naaz
मोहब्बत ही आजकल कम हैं
Dr.sima
इंसानों की इस भीड़ में
Dr fauzia Naseem shad
*जातियों में हम बॅंटे हैं, एक कब हो पाऍंगे (हिंदी...
Ravi Prakash
किसी कि चाहत
Surya Barman
घनाक्षरी छन्द
शेख़ जाफ़र खान
✍️कभी जुबाँ आ जाये तो...!✍️
'अशांत' शेखर
चार वीर सिपाही
अनूप अंबर
💐साधकस्य निष्ठा एव कल्याणकर्त्री💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कैसे तय करें, उसके त्याग की परिपाटी, जो हाथों की...
Manisha Manjari
हवाई जहाज
Buddha Prakash
तुमसे बिछड़ के दिल को ठिकाना नहीं मिला
Dr Archana Gupta
अगर प्यार करते हो मुझको
Ram Krishan Rastogi
विश्वास मुझ पर अब
gurudeenverma198
Loading...