Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#7 Trending Author
Jun 26, 2022 · 1 min read

रूठ गई हैं बरखा रानी

रूठ गई हैं बरखा रानी
तभी नहीं बरसाती पानी

आओ मिलकर उन्हें मनायें
कोई मीठा गीत सुनायें

बादल को भी आँख दिखायें
थोड़ा सा गुस्सा दिलवायें

जब गरजेंगे गड़ गड़ गड़ गड़
तब बरसेंगे तड़ तड़ तड़ तड़

नाचेंगी जब बूँदें छम छम
भीगेंगे उनके सँग में हम

झूमेगी हर डाली डाली
छा जाएगी फिर हरियाली

26-06-2022
डॉ अर्चना गुप्ता

6 Likes · 8 Comments · 382 Views
You may also like:
हम उन्हें कितना भी मनाले
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
श्री अग्रसेन भागवत ः पुस्तक समीक्षा
Ravi Prakash
देखा जो हुस्ने यार तो दिल भी मचल गया।
सत्य कुमार प्रेमी
पिता
Rajiv Vishal
परिकल्पना
संदीप सागर (चिराग)
गौरैया बोली मुझे बचाओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
नींद खो दी
Dr fauzia Naseem shad
✍️सारे अपने है✍️
'अशांत' शेखर
दिले यार ना मिलते हैं।
Taj Mohammad
बदल गए अन्दाज़।
Taj Mohammad
ये कैसा धर्मयुद्ध है केशव (युधिष्ठर संताप )
VINOD KUMAR CHAUHAN
गीत- अमृत महोत्सव आजादी का...
डॉ.सीमा अग्रवाल
सिरत को सजाओं
Anamika Singh
इच्छा
Anamika Singh
माहौल का प्रभाव
AMRESH KUMAR VERMA
कशमकश का दौर
Saraswati Bajpai
नवगीत
Sushila Joshi
मिसाल (कविता)
Kanchan Khanna
इश्क की आग।
Taj Mohammad
कभी-कभी आते जीवन में...
डॉ.सीमा अग्रवाल
औनी पौनी बातें
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बाबा अब जल्दी से तुम लेने आओ !
Taj Mohammad
✍️✍️ए जिंदगी✍️✍️
'अशांत' शेखर
सद्आत्मा शिवाला
Pt. Brajesh Kumar Nayak
जातिगत जनगणना से कौन डर रहा है ?
Deepak Kohli
ग़ज़ल- मज़दूर
आकाश महेशपुरी
माँ
Dr. Meenakshi Sharma
✍️मैं काश हो गया..✍️
'अशांत' शेखर
गम तारी है।
Taj Mohammad
राफेल विमान
jaswant Lakhara
Loading...