#2 Trending Author
Jan 24, 2022 · 1 min read

राष्ट्रीय बालिका दिवस पर

राष्टीय बालिका दिवस पर
********************
क्यो समझते लड़की है पराया धन
और लड़का है अपने घर का धन,
जबकि दोनो ही लेते है एक कोख से जन्म।

दोनो की एक धरती,दोनो का एक गगन,
दोनो का एक माली,दोनो का एक चमन।
दोनो का एक घर,दोनो का एक आंगन,
फिर भी कहते है लड़की है पराया धन,
और लड़का है अपने ही घर का धन।

दोनो के प्रसव में मां सहती है एक सी पीड़ा,
दोनो के जन्म में होती है एक सी ही क्रीड़ा।
दोनो के जन्म देने में दर्द होता है सहन,
फिर भी कहते है लड़की है पराया धन,
और लड़का होता है अपने घर का धन।।

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

4 Likes · 9 Comments · 213 Views
You may also like:
👌राम स्त्रोत👌
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"सुकून की तलाश"
Ajit Kumar "Karn"
उम्मीद की रोशनी में।
Taj Mohammad
आंखों का वास्ता।
Taj Mohammad
मौन की पीड़ा
Saraswati Bajpai
पेड़ - बाल कविता
Kanchan Khanna
शायद मैं गलत हूँ...
मनोज कर्ण
मेरा पेड़
उमेश बैरवा
एकाकीपन
Rekha Drolia
भगवान सुनता क्यों नहीं ?
ओनिका सेतिया 'अनु '
नियमित बनाम नियोजित(मरणशील बनाम प्रगतिशील)
Sahil
मेरे पापा
ओनिका सेतिया 'अनु '
"निरक्षर-भारती"
Prabhudayal Raniwal
महापंडित ठाकुर टीकाराम (18वीं सदीमे वैद्यनाथ मंदिर के प्रधान पुरोहित)
श्रीहर्ष आचार्य
मै जलियांवाला बाग बोल रहा हूं
Ram Krishan Rastogi
बेटी का संदेश
Anamika Singh
माफी मैं नहीं मांगता
gurudeenverma198
हम और तुम जैसे…..
Rekha Drolia
दोस्त जीवन में एक सच्चा दोस्त ज़रूर कमाना….
Piyush Goel
दर्द भरे गीत
Dr.sima
एक मसीहा घर में रहता है।
Taj Mohammad
पापा की परी...
Sapna K S
कौन किसके बिन अधूरा है
Ram Krishan Rastogi
धार्मिक उन्माद
Rakesh Pathak Kathara
इंतजार मत करना
Rakesh Pathak Kathara
💐💐प्रेम की राह पर-21💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मैं परछाइयों की भी कद्र करता हूं
VINOD KUMAR CHAUHAN
माँ
Dr Archana Gupta
माँ तुम्हें सलाम हैं।
Anamika Singh
तुम बिन लगता नही मेरा मन है
Ram Krishan Rastogi
Loading...