Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Feb 2022 · 1 min read

राष्ट्रीयत्व 【कुंडलिया】

*राष्ट्रीयत्व 【कुंडलिया】*
■■■■■■■■■■■■■■■■■■
अपने भारत देश में ,राष्ट्रीयत्व अपार
इसका मतलब हिंद के ,गौरव से है प्यार
गौरव से है प्यार ,सनातन संस्कृति पूजी
पर्वत नदियाँ पेड़ ,न धरती ऐसी दूजी
कहते रवि कविराय ,चलो देखें सब सपने
गाएँ वंदे-राष्ट्र ,हृदय में भरकर अपने
■■■■■■■■■■■■■■■■■
रचयिता: रवि प्रकाश ,बाजार सर्राफा
रामपुर (उत्तर प्रदेश)
मोबाइल 99976 15451

106 Views

Books from Ravi Prakash

You may also like:
Sometimes
Sometimes
Vandana maurya
प्यार -ए- इतिहास
प्यार -ए- इतिहास
Nishant prakhar
मुक्तक
मुक्तक
Rajkumar Bhatt
क्या रखा है, वार (युद्ध) में?
क्या रखा है, वार (युद्ध) में?
Dushyant Kumar
हवाएं रुख में आ जाएं टीलो को गुमशुदा कर देती हैं
हवाएं रुख में आ जाएं टीलो को गुमशुदा कर देती...
कवि दीपक बवेजा
चंद अशआर -ग़ज़ल
चंद अशआर -ग़ज़ल
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
मैथिली मुक्तक (Maithili Muktak) / मैथिली शायरी (Maithili Shayari)
मैथिली मुक्तक (Maithili Muktak) / मैथिली शायरी (Maithili Shayari)
Binit Thakur (विनीत ठाकुर)
तुम्हें आती नहीं क्या याद की  हिचकी..!
तुम्हें आती नहीं क्या याद की हिचकी..!
Ranjana Verma
आदिवासी
आदिवासी
Shekhar Chandra Mitra
हम बच्चों की आई होली
हम बच्चों की आई होली
लक्ष्मी सिंह
सरस्वती आरती
सरस्वती आरती
संजीव शुक्ल 'सचिन'
मुक्तक
मुक्तक
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
आज का चिंतन
आज का चिंतन
निशांत 'शीलराज'
प्यार अंधा होता है
प्यार अंधा होता है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
💐अज्ञात के प्रति-96💐
💐अज्ञात के प्रति-96💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बहाव के विरुद्ध कश्ती वही चला पाते जिनका हौसला अंबर की तरह ब
बहाव के विरुद्ध कश्ती वही चला पाते जिनका हौसला अंबर...
Dr.Priya Soni Khare
लोकदेवता :दिहबार
लोकदेवता :दिहबार
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
मेरी आरज़ू है ये
मेरी आरज़ू है ये
shabina. Naaz
ऐसा नहीं है कि मैं तुम को भूल जाती हूँ
ऐसा नहीं है कि मैं तुम को भूल जाती हूँ
Faza Saaz
इसमें कोई दो राय नहीं है
इसमें कोई दो राय नहीं है
Dr fauzia Naseem shad
*हृदय कवि का विधाता, श्रेष्ठतम वरदान देता है 【मुक्तक】*
*हृदय कवि का विधाता, श्रेष्ठतम वरदान देता है 【मुक्तक】*
Ravi Prakash
आज की प्रस्तुति: भाग 6
आज की प्रस्तुति: भाग 6
Rajeev Dutta
■ एक प्रयास...विश्वास भरा
■ एक प्रयास...विश्वास भरा
*Author प्रणय प्रभात*
मैं भटकता ही रहा दश्त-ए-शनासाई में
मैं भटकता ही रहा दश्त-ए-शनासाई में
Anis Shah
⚘️🌾Movement my botany⚘️🌾
⚘️🌾Movement my botany⚘️🌾
Ankit Halke jha
परिचय- राजीव नामदेव राना लिधौरी
परिचय- राजीव नामदेव राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मैं हिन्दी हूँ , मैं हिन्दी हूँ / (हिन्दी दिवस पर एक गीत)
मैं हिन्दी हूँ , मैं हिन्दी हूँ / (हिन्दी दिवस...
ईश्वर दयाल गोस्वामी
सदा सुहागन रहो
सदा सुहागन रहो
VINOD KUMAR CHAUHAN
अपनेपन का मुखौटा
अपनेपन का मुखौटा
Manisha Manjari
दिल चेहरा आईना
दिल चेहरा आईना
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Loading...