Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 11, 2022 · 1 min read

राम

राम हमारे जनमानस की धड़कन है ।
राम चरित ही निज संस्कृति का उद्‌गम है ।
राम हमारा दर्शन व आध्यात्म है ।
राम प्रेरणा और सकल सब ज्ञान हैं ।
हृदय राममय सकल मोक्ष का द्वार है ।
राम हमारा भावमयी संसार हैं ।

3 Likes · 4 Comments · 100 Views
You may also like:
वक़्त
Mahendra Rai
ज़िंदगी का हीरो
AMRESH KUMAR VERMA
'पिता' हैं 'परमेश्वरा........
Dr. Alpa H. Amin
अस्मतों के बाज़ार लग गए हैं।
Taj Mohammad
वो दिन भी बहुत खूबसूरत थे
Krishan Singh
पत्ते ने अगर अपना रंग न बदला होता
Dr. Alpa H. Amin
A Warrior Of The Darkness
Manisha Manjari
देखो हाथी राजा आए
VINOD KUMAR CHAUHAN
प्रेमिका.. मेरी प्रेयसी....
Sapna K S
जाग्रत हिंदुस्तान चाहिए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
शायद...
Dr. Alpa H. Amin
मानव तन
Rakesh Pathak Kathara
HAPPY BIRTHDAY SHIVANS
KAMAL THAKUR
'दुष्टों का नाश करें' (ओज - रस)
Vishnu Prasad 'panchotiya'
प्यार का अलख
DESH RAJ
आखिरी पड़ाव
DESH RAJ
खोकर के अपनो का विश्वास...। (भाग -1)
Buddha Prakash
मनोमंथन
Dr. Alpa H. Amin
सूर्यज्वाळा
"अशांत" शेखर
सालो लग जाती है रूठे को मानने में
Anuj yadav
स्वर कोकिला
AMRESH KUMAR VERMA
शहीद की आत्मा
Anamika Singh
“ कोरोना ”
DESH RAJ
इस शहर में
Shriyansh Gupta
बंदिशें भी थी।
Taj Mohammad
✍️दो और दो पाँच✍️
"अशांत" शेखर
पिता कुछ भी कर जाता है।
Taj Mohammad
बॉलीवुड का अंधा गोरी प्रेम और भारतीय समाज पर इसके...
हरिनारायण तनहा
पिता, पिता बने आकाश
indu parashar
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग६]
Anamika Singh
Loading...