Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

राना दोहावली- तीन दोहे बिषय- “सदाचार”

राना दोहावली-बिषय- “सदाचार”

बिषय- “सदाचार”

सदाचार दिल में रखो,
बनते लोग महान।
इन्हीं गुणों से ही सदा,
खुश होते भगवान।।
***
संयम व सदाचार हो,
क्षमा दया गुण नेक।
जिसमें रहते ये सभी,
उसके सखा अनेक।।
***
सदाचार अपनाए जो,
पाए सबका प्यार।
दुराचारियों को सदा,
मिलती है फटकार।।
###

कवि- राजीव नामदेव “राना लिधौरी”
संपादक- “आकांक्षा” पत्रिका
जिलाध्यक्ष-म.प्र. लेखक संघ टीकमगढ़
अध्यक्ष-वनमाली सृजन केन्द्र टीकमगढ़
नई चर्च के पीछे, शिवनगर कालोनी,
टीकमगढ़ (मप्र)-472001
मोबाइल- 9893520965
Email – ranalidhori@gmail.com
Blog-rajeevranalidhori.blogspot.com

##################

1 Like · 161 Views
You may also like:
दौर-ए-सफर
DESH RAJ
मुट्ठी में ख्वाबों को दबा रखा है।
Taj Mohammad
✍️वो खूबसूरती✍️
'अशांत' शेखर
शादी का उत्सव
AMRESH KUMAR VERMA
मेरी प्रथम शायरी (2011)-
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
*मंत्री जी (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
प्यारा तिरंगा
ओनिका सेतिया 'अनु '
तब मुझसे मत करना कोई सवाल तुम
gurudeenverma198
चल-चल रे मन
Anamika Singh
# अव्यक्त ....
Chinta netam " मन "
किसे फर्क पड़ता है।(कविता)
sangeeta beniwal
मेरा वजूद
Anamika Singh
सदियों बाद
Dr.Priya Soni Khare
✍️🌺प्रेम की राह पर-46🌺✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
धन-दौलत
AMRESH KUMAR VERMA
तुम बिन लगता नही मेरा मन है
Ram Krishan Rastogi
✍️टिकमार्क✍️
'अशांत' शेखर
पर्यावरण
सूर्यकांत द्विवेदी
हे गुरू।
Anamika Singh
💐नव ऊर्जा संचार💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
स्वतंत्रता दिवस
KAMAL THAKUR
जोकर vs कठपुतली
bhandari lokesh
"वो पिता मेरे, मै बेटी उनकी"
रीतू सिंह
मायका
Anamika Singh
अपनी कहानी
Dr.Priya Soni Khare
सावधान हो जाओ, मुफ्त रेवड़ियां बांटने बालों
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ज़िंदगी का ये
Dr fauzia Naseem shad
पिता
Rajiv Vishal
बदरवा जल्दी आव ना
सिद्धार्थ गोरखपुरी
आमाल।
Taj Mohammad
Loading...