Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#5 Trending Author
Jun 17, 2022 · 1 min read

रात चांदनी का महताब लगता है।

यूं तो गुस्ताखियां तमाम करता है,,
शोखियों में ही हर बात करता है,,
धूप में खिलती कलियों सा है वो,,
रात चांदनी का महताब लगता है,,,!!

आज आया जो मेरी गली में वो ,,
तो मोहल्ला त्यौहार सा लगता है,,
अदाओं से वो है अल्हड़ बड़ा ही,,
मुझे मौसम ए बहार सा लगता है,,,!!

जाने क्या कशिश है उसमें जो वो,,
मुझको अपना अपना सा लगता है,,
मरहम है वो मेरे हर ज़ख्म का ही,,
उसको देखकर करार सा लगता है,,,!!

ताज मोहम्मद
लखनऊ

1 Like · 2 Comments · 89 Views
You may also like:
प्रिय सुनो!
Shailendra Aseem
भारतीय सभ्यता की दुर्लब प्राचीन विशेषताएं ।
Mani Kumar Kachi
सर्वप्रिय श्री अख्तर अली खाँ
Ravi Prakash
रजनी कजरारी
Dr Meenu Poonia
गाँव की स्थिति.....
Dr.Alpa Amin
तुमसे कोई शिकायत नही
Ram Krishan Rastogi
नामे बेवफ़ा।
Taj Mohammad
✍️चराग बुझा गयी✍️
'अशांत' शेखर
आईना देखना पहले
gurudeenverma198
बेजुबां जीव
Jyoti Khari
तुमसे अगर प्यार अगर सच्चा न होता
gurudeenverma198
“NEW ABORTION LAW IN AMERICA SNATCHES THE RIGHT OF WOMEN”
DrLakshman Jha Parimal
भूल जा - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
*पापा … मेरे पापा …*
Neelam Chaudhary
✍️मैं जब पी लेता हूँ✍️
'अशांत' शेखर
कातिलाना अदा है।
Taj Mohammad
सावन की बौछार
सिद्धार्थ गोरखपुरी
गुज़र रही है जिंदगी...!!
Ravi Malviya
I Can Cut All The Strings Attached
Manisha Manjari
उफ ! ये गर्मी, हाय ! गर्मी / (गर्मी का...
ईश्वर दयाल गोस्वामी
' स्वराज 75' आजाद स्वतन्त्र सेनानी शर्मिंदा
jaswant Lakhara
एक पत्र पुराने मित्रों के नाम
Ram Krishan Rastogi
महेनतकश इंसान हैं ... नहीं कोई मज़दूर....
Dr.Alpa Amin
दर्दों ने घेरा।
Taj Mohammad
चाहत की बाते
Dr. Sunita Singh
रोना भी बहुत जरूरी है।
Taj Mohammad
पहले ग़ज़ल हमारी सुन
Shivkumar Bilagrami
काँटा और गुलाब
Anamika Singh
तुझसे रूबरू होकर,
Vaishnavi Gupta
राती घाटी
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
Loading...