Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Oct 13, 2016 · 1 min read

राजयोग महागीता:: गुरुक्तानुभव ( घनाक्षरी) पोस्ट ७

गुरु वचनों का मंत्र, सत्संग , स्वाध्याय– सुधा ,
नृप ! ज्ञान – प्राप्ति का उपाय यही जानिए ।
ज्ञान है परम यही, सबमें समाया जो है ,
आप ! सारात्सार, परंब्रह्म को ही जानिए ।
शाश्वत नित्य परम आनंद का स्रोत भी जो ,
मैं भी हूँ वही स्वरूप , अपने को मानिए ।
भक्ति, ज्ञान, कर्म में तो श्र्ष्ठ है सहज भक्ति,
जानकर उसके ही गुण गान गाइए।।अध्याय १ / छंद २!!
——– जितेन्द्रकमल आनंद

93 Views
You may also like:
🍀🌺प्रेम की राह पर-44🍀🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सुन री पवन।
Taj Mohammad
खोलो मन की सारी गांठे
Saraswati Bajpai
कुण्डलिया
शेख़ जाफ़र खान
कोमल हृदय - नारी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
चला कर तीर नज़रों से
Ram Krishan Rastogi
हसद
Alok Saxena
✍️कालचक्र✍️
"अशांत" शेखर
आज तिलिस्म टूट गया....
Saraswati Bajpai
पढ़ाई - लिखाई
AMRESH KUMAR VERMA
एक दुखियारी माँ
DESH RAJ
बंदिशें भी थी।
Taj Mohammad
जगत जननी है भारत …..
Mahesh Ojha
रिश्तों की कसौटी
VINOD KUMAR CHAUHAN
"हम ना होंगें"
Lohit Tamta
अब सुप्त पड़ी मन की मुरली, यह जीवन मध्य फँसा...
संजीव शुक्ल 'सचिन'
आदतें
AMRESH KUMAR VERMA
इश्क के मारे है।
Taj Mohammad
कर्म पथ
AMRESH KUMAR VERMA
पितृ वंदना
संजीव शुक्ल 'सचिन'
ये कैसा धर्मयुद्ध है केशव (युधिष्ठर संताप )
VINOD KUMAR CHAUHAN
कृष्ण पक्ष// गीत
Shiva Awasthi
नियमित बनाम नियोजित(मरणशील बनाम प्रगतिशील)
Sahil
✍️सिर्फ…✍️
"अशांत" शेखर
उसूल
Ray's Gupta
सर रख कर रोए।
Taj Mohammad
ભીની ભીની લાગણી.....
Dr. Alpa H. Amin
लाडली की पुकार!
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
जिस नारी ने जन्म दिया
VINOD KUMAR CHAUHAN
हाइकु_रिश्ते
Manu Vashistha
Loading...