Oct 14, 2016 · 1 min read

राजयोग महागीता: अपनेको छोड़ मत, दूसरेको दृष्टा देख:: पोस्ट१४

घनाक्षरी:: अध्याय १:: गुरुक्तानुभव : छंद संख्या७

अपने को छोड मत, दुसरे को दृष्टा देख,
स्वयं ही दृष्टा है ,जानकर आनंद कर ।
बुद्ध है प्रबुद्ध स्वयं, फँसने न पायेगा ,
शुद्ध है , विशुद्ध मानकर| आनंदकर ।
ज्ञान रूपी पावक में दग्ध कर अज्ञान को ,
शोक — रोग – मुक्त होके नित्य आनंद कर ।
तेरे में हे मुक्ति की यदि गौरव की भावना ,
होगी मति वैसी गति , दिव्य आनंद कर ।।७/ अध्य१!!

—– जितेन्द्रकमल आनंद

85 Views
You may also like:
हायकु
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
🌺🌺दोषदृष्टया: साधके प्रभावः🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
उसके मेरे दरमियाँ खाई ना थी
Khalid Nadeem Budauni
अत्याचार
AMRESH KUMAR VERMA
मयंक के जन्मदिन पर बधाई
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
वर्तमान
Vikas Sharma'Shivaaya'
रसिया यूक्रेन युद्ध विभीषिका
Ram Krishan Rastogi
ये नारी है नारी।
Taj Mohammad
विश्व पुस्तक दिवस (किताब)
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सद् गणतंत्र सु दिवस मनाएं
Pt. Brajesh Kumar Nayak
**दोस्ती हैं अजूबा**
Dr. Alpa H.
बेटी का पत्र माँ के नाम (भाग २)
Anamika Singh
"मेरे पापा "
Usha Sharma
"सुकून की तलाश"
Ajit Kumar "Karn"
सार्थक शब्दों के निरर्थक अर्थ
Manisha Manjari
बदलती परम्परा
Anamika Singh
मां
Umender kumar
Life through the window during lockdown
ASHISH KUMAR SINGH 9A
वसंत का संदेश
Anamika Singh
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी, एक सच्चे इंसान थे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
माँ (खड़ी हूँ मैं बुलंदी पर मगर आधार तुम हो...
Dr Archana Gupta
गुजर रही है जिंदगी अब ऐसे मुकाम से
Ram Krishan Rastogi
"एक नई सुबह आयेगी"
Ajit Kumar "Karn"
बड़ा भाई बोल रहा हूं
Satpallm1978 Chauhan
मैं पिता हूँ
सूर्यकांत द्विवेदी
पुत्रवधु
Vikas Sharma'Shivaaya'
'फूल और व्यक्ति'
Vishnu Prasad 'panchotiya'
बुद्ध पूर्णिमा पर मेरे मन के उदगार
Ram Krishan Rastogi
राम नाम ही परम सत्य है।
Anamika Singh
बंद हैं भारत में विद्यालय.
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...