Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 1, 2021 · 1 min read

रेशमी केश

जब जब मन्द बयारें चलती
रेशमी केश अपने लहराया करती हो
जब जब मेघ गगन में घिरते
इन्द्रधनुषी छटा दिखलाती हो

रूपसि तुम कोन हो ?
मायाजाल में मुझको उलझाती हो
अम्बर से ही अवनि तक लेकर
आँचल लहरा मन्द मुस्काराती हो

जब जब देखा है तुमको
गांव की पगडण्डी थिरक लुभाती हो
आमों की बौर पर लावण्य बिखेर
स्वर्गिक बाला सी तुम इठलाती हो

75 Likes · 2 Comments · 248 Views
You may also like:
ग़ज़ल
Mahendra Narayan
💐साधकस्य निष्ठा एव कल्याणकर्त्री💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पिता है मेरे रगो के अंदर।
Taj Mohammad
ऐ दिल सब्र कर।
Taj Mohammad
*अग्रसेन जी धन्य (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
नीड़ फिर सजाना है
Saraswati Bajpai
बँटवारे का दर्द
मनोज कर्ण
चिराग जलाए नहीं
शेख़ जाफ़र खान
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
*रामपुर के गुमनाम क्रांतिकारी*
Ravi Prakash
ऐ जाने वफ़ा मेरी हम तुझपे ही मरते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
नहीं, अब ऐसा नहीं होगा
gurudeenverma198
चलो दूर चलें
VINOD KUMAR CHAUHAN
✍️हे शहीद भगतसिंग...!✍️
'अशांत' शेखर
✍️पुरानी रसोई✍️
'अशांत' शेखर
पर्यावरण
Vijaykumar Gundal
अपना भारत देश महान है।
Taj Mohammad
हम ना सोते हैं।
Taj Mohammad
✍️कल के सुरज को ✍️
'अशांत' शेखर
शासन वही करता है
gurudeenverma198
बढ़ती आबादी
AMRESH KUMAR VERMA
शाश्वत सत्य की कलम से।
Manisha Manjari
*इस बार पार कर दो (भक्ति गीत)*
Ravi Prakash
फ़ालतू बात यही है
gurudeenverma198
ज़िंदगी पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
मुश्किलात
Gaurav Dehariya साहित्य गौरव
हवा
AMRESH KUMAR VERMA
✍️✍️शिद्दत✍️✍️
'अशांत' शेखर
हमारा दिल।
Taj Mohammad
वाक्य से पोथी पढ़
शेख़ जाफ़र खान
Loading...