Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Apr 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-534💐

ये मुक़र्रर पयाम राह चलते बसर नहीं होने दे रहे हैं,
ये दिल ख़ुद मज़े में है क्यों ख़बर नहीं होने दे रहे हैं,
कुछ सवाल हैं जो ज़िंदगी भर बाक़ी रहेंगे तेरे मेरे,
ये इश्क़ लिपट गया है रूह से कम नहीं होने दे रहे हैं।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”
मेरे माता पिता का आदेश सर्वोपरि है।

Language: Hindi
172 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Follow our official WhatsApp Channel to get all the exciting updates about our writing competitions, latest published books, author interviews and much more, directly on your phone.
You may also like:
✍️ सर झुकाया नहीं✍️
✍️ सर झुकाया नहीं✍️
'अशांत' शेखर
✍️प्रेम की राह पर-72✍️
✍️प्रेम की राह पर-72✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ठंडी क्या आफत है भाई
ठंडी क्या आफत है भाई
AJAY AMITABH SUMAN
तुम मेरे मालिक मेरे सरकार कन्हैया
तुम मेरे मालिक मेरे सरकार कन्हैया
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
कन्यादान
कन्यादान
Mukesh Kumar Sonkar
मैं
मैं "आदित्य" सुबह की धूप लेकर चल रहा हूं।
Dr. ADITYA BHARTI
गरम हुई तासीर दही की / (गर्मी का नवगीत)
गरम हुई तासीर दही की / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
देश बचाओ
देश बचाओ
Shekhar Chandra Mitra
ना मुमकिन
ना मुमकिन
DR ARUN KUMAR SHASTRI
यह क्या किया तुमने
यह क्या किया तुमने
gurudeenverma198
रूप कुदरत का
रूप कुदरत का
surenderpal vaidya
देखो हाथी राजा आए
देखो हाथी राजा आए
VINOD KUMAR CHAUHAN
दुख में भी मुस्कुराएंगे, विपदा दूर भगाएंगे।
दुख में भी मुस्कुराएंगे, विपदा दूर भगाएंगे।
डॉ.सीमा अग्रवाल
वक़्त वो सबसे ही जुदा होगा
वक़्त वो सबसे ही जुदा होगा
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
देव शयनी एकादशी
देव शयनी एकादशी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मुहावरे_गोलमाल_नामा
मुहावरे_गोलमाल_नामा
Anita Sharma
"लाइलाज"
Dr. Kishan tandon kranti
Sometimes
Sometimes
Vandana maurya
शेर
शेर
Monika Verma
प्रथम संवाद में अपने से श्रेष्ठ को कभी मित्र नहीं कहना , हो
प्रथम संवाद में अपने से श्रेष्ठ को कभी मित्र नहीं कहना , हो
DrLakshman Jha Parimal
तुम मोहब्बत में
तुम मोहब्बत में
Dr fauzia Naseem shad
#तेवरी / #देसी_ग़ज़ल
#तेवरी / #देसी_ग़ज़ल
*Author प्रणय प्रभात*
द्रौपदी चीर हरण
द्रौपदी चीर हरण
Ravi Yadav
मेरी बातों का असर यार हल्का पड़ा उस पर
मेरी बातों का असर यार हल्का पड़ा उस पर
कवि दीपक बवेजा
"बेरोजगारी"
पंकज कुमार कर्ण
*नव संवत्सर आया नभ में, वायु गीत है गाती ( मुक्तक )*
*नव संवत्सर आया नभ में, वायु गीत है गाती ( मुक्तक )*
Ravi Prakash
नववर्ष-अभिनंदन
नववर्ष-अभिनंदन
Kanchan Khanna
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
विश्ववाद
विश्ववाद
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
जीतकर ही मानेंगे
जीतकर ही मानेंगे
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Loading...