Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

!! ये पत्थर नहीं दिल है मेरा !!

मेरा दिल न तुम पत्थर समझो, ये इश्क़ में चलता राही है
जो रक्त बह रहा है तन में, वह इश्क लिखे वो स्याही है
मेरा दिल ना पत्थर………..
(1) कितने लम्हे आए, कितनी सदियों के लम्हे बीत गए
जो डूबे हुए इश्क में थे, वो इश्क की बाजी जीत गए
कितने दिल टूटे बिखर गए, ये इश्क की बड़ी तबाही है
मेरा दिल ना पत्थर………..
(2) मैदान-ए-जंग मोहब्बत की, दिल को हथियार बना जीतो
तुम्हें लगन लगी जिस दिलबर की, उसको सच्चे दिल से चीतो
इतिहास के हो तुम दीवाने, ये जग की तुम्हें गवाही है
मेरा दिल ना पत्थर………
(3) खुद्दारी उन खुदारों की, इतिहास खूब दोहराता है
लैला मजनू थे प्यार भरे, कोई रांझा – हीर बताता है
जो इश्क में मिट कुर्बान हुए, ये उनकी वाही – वाही है
मेरा दिल ना पत्थर………
लेखक :- खैम सिंह सैनी
मो.न. 9266034599
M.A, B.Ed Rajasthan

2 Likes · 515 Views
You may also like:
सतुआन
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
हिन्दी साहित्य का फेसबुकिया काल
मनोज कर्ण
तुम्हारा हर अश्क।
Taj Mohammad
मैं मजदूर हूँ!
Anamika Singh
गुज़र रही है जिंदगी...!!
Ravi Malviya
सफर
Anamika Singh
आपातकाल
Shriyansh Gupta
किसी को गिराया नहीं मैनें।
Taj Mohammad
गीत... कौन है जो
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
वृक्ष बोल उठे..!
Prabhudayal Raniwal
जीवन साथी
जगदीश लववंशी
चाहत कुर्सी की जागी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*तजकिरातुल वाकियात* (पुस्तक समीक्षा )
Ravi Prakash
💐💐प्रेम की राह पर-20💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
दीया तले अंधेरा
Vikas Sharma'Shivaaya'
.....उनके लिए मैं कितना लिखूं?
ऋचा त्रिपाठी
जिदंगी के कितनें सवाल है।
Taj Mohammad
परिकल्पना
संदीप सागर (चिराग)
सिपाही
Buddha Prakash
अजी मोहब्बत है।
Taj Mohammad
यादों का मंजर
Mahesh Tiwari 'Ayen'
खामोशियाँ
अंजनीत निज्जर
यादों की साजिशें
Manisha Manjari
✍️जुर्म संगीन था...✍️
"अशांत" शेखर
*इस बार पार कर दो (भक्ति गीत)*
Ravi Prakash
दरिया
Anamika Singh
✍️आप क्यूँ लिखते है ?✍️
"अशांत" शेखर
" मैं हूँ ममता "
मनोज कर्ण
घुतिवान- ए- मनुज
AMRESH KUMAR VERMA
बरगद का पेड़
Manu Vashistha
Loading...