Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#4 Trending Author
May 27, 2022 · 1 min read

ये दिल धड़कता नही अब तुम्हारे बिना

दिल धड़कता नही अब तुम्हारे बिना।
कुछ समझता नही अब तुम्हारे बिना।।

जब से दिल पर पड़ी तेरी परछाइयां।
दिल मचलता नही अब तुम्हारे बिना।।

मेरे हाथो से ये दिल निकलने लगा।
जोर चलता नही अब तुम्हारे बिना।।

रात कट जाती हैं आंखो आंखो में।
दिन ढलता नही अब तुम्हारे बिना।।

ये दिल भाग रहा है पता नही कहां।
ये संभलता नही अब तुम्हारे बिना।।

रस्तोगी कहता है ये कुछ आगे बढ़े।
ये दिल बढ़ता नही अब तुम्हारे बिना

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

2 Likes · 2 Comments · 255 Views
You may also like:
जीतने की उम्मीद
AMRESH KUMAR VERMA
समझ में आयेगी
Dr fauzia Naseem shad
We Would Be Connected Actually
Manisha Manjari
【12】 **" तितली की उड़ान "**
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
#कविता//ऊँ नमः शिवाय!
आर.एस. 'प्रीतम'
तमाम उम्र।
Taj Mohammad
गीत
Kanchan Khanna
इश्क की आग।
Taj Mohammad
पिंजरबद्ध प्राणी की चीख
AMRESH KUMAR VERMA
ठिकरा विपक्ष पर फोडा जायेगा
Mahender Singh Hans
हम भाई भाई थे
Anamika Singh
✍️एक ख़ता✍️
'अशांत' शेखर
हमसे न अब करो
Dr fauzia Naseem shad
उम्मीद है कि वो मुझे .....।
Jitendra Chhonkar
बर्षा रानी जल्दी आओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
फरियाद
Anamika Singh
🌺🌺Kill your sorrows with your willpower🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
गज़ल
Sunita Gupta
कातिल ना मिला।
Taj Mohammad
ब्राउनी (पिटबुल डॉग) की पीड़ा
ओनिका सेतिया 'अनु '
दोस्ती का एहसास होता है
Dr fauzia Naseem shad
भारत की जाति व्यवस्था
AMRESH KUMAR VERMA
होली कान्हा संग
Kanchan Khanna
खुद को कभी न बदले
Dr fauzia Naseem shad
# मां ...
Chinta netam " मन "
छोड़ दिए संस्कार पिता के, कुर्सी के पीछे दौड़ रहे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
साँझ
Alok Saxena
पिता
Ray's Gupta
चले आओ तुम्हारी ही कमी है।
सत्य कुमार प्रेमी
वक्त का खेल
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...