Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 11, 2022 · 1 min read

यूं रो कर ना विदा करो।

यूं रो कर ना विदा करो हम जा ना पाएंगें।
तेरे अश्क मेरे पैरों की ज़ंजीर बन जायेंगे।।1।।

बड़ी मुश्किल से संभाला है इस दिल को।
जानें दो फिर जल्दी घर लौट कर आएंगे।।2।।

हमको याद कर के कभी रोना नही तुम।
वर्ना हम सुकून से कहीं पे ना रह पायेंगे।।3।।

दिल तो करता है हमेशा पास रहूं मैं तेरे।
पर बिना दौलत के ये घर कैसे चलाएंगे।।4।।

तेरी सब बातों को हम हमेशा याद रखेंगें।
दिल को तेरा अहसास हरवक्त कराएंगे।।5।।

ये दिल तुम्हें पल भर के लिए ना भूलेगा।
तुम्हारे वजूद में कुछ यूं हम ढल जायेगें।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

1 Like · 2 Comments · 96 Views
You may also like:
✍️एक घना दश्त है✍️
'अशांत' शेखर
R
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
जिन्दगी और चाहत
Anamika Singh
काश....! तू मौन ही रहता....
Dr. Pratibha Mahi
बदलती परम्परा
Anamika Singh
हृद् कामना ....
डॉ.सीमा अग्रवाल
यशोधरा की व्यथा....
kalyanitiwari19978
दुर्घटना का दंश
DESH RAJ
*पुस्तक समीक्षा*
Ravi Prakash
कातिल ना मिला।
Taj Mohammad
तेरा रूतबा है बड़ा।
Taj Mohammad
✍️करम✍️
'अशांत' शेखर
किसी की आरजू में।
Taj Mohammad
सेतुबंध रामेश्वर
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
एक मुद्दत से।
Taj Mohammad
पैसा पैसा कैसा पैसा
विजय कुमार अग्रवाल
जिन्दगी है की अब सम्हाली ही नहीं जाती है ।
Buddha Prakash
जिन्दगी को साज दे रहा है।
Taj Mohammad
पिता
Shailendra Aseem
फुर्तीला घोड़ा
Buddha Prakash
कहानियां
Alok Saxena
बढ़ती आबादी
AMRESH KUMAR VERMA
इश्क की तिशनगी है।
Taj Mohammad
*श्री विष्णु प्रभाकर जी के कर - कमलों द्वारा मेरी...
Ravi Prakash
नेता बनि के आवे मच्छर
आकाश महेशपुरी
💐ये मेरी आशिकी💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
The Journey of this heartbeat.
Manisha Manjari
# जज्बे सलाम ...
Chinta netam " मन "
#15_जून
Ravi Prakash
"पिता"
Dr. Reetesh Kumar Khare डॉ रीतेश कुमार खरे
Loading...