May 2, 2017 · 1 min read

युवकों का निर्माण चाहिए

● मुक्तक
तरुण जाग जाए स्वराष्ट्र का ,तब ही तो सचमुच विकास है।
जन जन के बंधुत्व रूप का उच्च भाल, उर का प्रकाश है।
उच्च सजगता का सुवास सह दिव्य प्रेम की सबल साधना
के बल से ही विश्व भूमि पर ,आर्य-देश ज्ञानी अकाश है।

●कविता
युवकों का निर्माण चाहिए, युवकों का निर्माण चाहिए
कलियुग के कलुषित तम हिय को,चीर सके वह बाण चाहिए

•सज्जनता की ढाल रो रही,काम-क्रोध जयमाल हो रही
विचलित नर के रोम-रोम में लिप्सा की सुरताल हो रही
बेटा बोले बात न मानू,पापा मुझे प्रमाण चाहिए
युवकों का निर्माण चाहिए, युवकों का निर्माण चाहिए

•अवनति औ उपहास बने हम,बंधन सह दुख-ग्रास बने हम
विकसित हैं, लेकिन अवशादी, चंद्रग्रहण खग्रास बने हम
झट तलाक है,रोयी खाट हैं, प्रेम-शांति का त्राण चाहिए
युवको का निर्माण चाहिए युवकों का निर्माण चाहिए

•सीखे नाहीं बिज्ञ ककहरा, मदिरा पीकर मना दशहरा
जड़ बनकर भ्रम- भँवर मध्य फँस,घूम रहा नर, दुख अति गहरा
सुप्त-अचेतन हिय स्वराष्ट्र को, अब चेतना कृपाण चाहिए
युवकों का निर्माण चाहिए, युवकों का निर्माण चाहिए
…………………………………………………………

●उक्त मुक्तक एवं कविता को “जागा हिंदुस्तान चाहिए” काव्य संग्रह के द्वितीय संस्करण के अनुसार परिष्कृत कर दिया गया है। जागा हिंदुस्तान चाहिए कृति के द्वितीय संस्करण में उक्त मुक्तक को पेज संख्या 21 एवं कविता को पेज संख्या 22 पर पढ़ा सकता है।

●”जागा हिंदुस्तान चाहिए” काव्य संग्रह का द्वितीय संस्करण अमेजोन और फ्लिपकार्ट पर उपलब्ध है।
पं बृजेश कुमार नायक

1 Like · 445 Views
You may also like:
आध्यात्मिक गंगा स्नान
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दर्द।
Taj Mohammad
दिल तड़फ रहा हैं तुमसे बात करने को
Krishan Singh
पिता भगवान का अवतार होता है।
Taj Mohammad
【19】 मधुमक्खी
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
लौट आई जिंदगी बेटी बनकर!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
*!* मेरे Idle मुन्शी प्रेमचंद *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
आप कौन है
Sandeep Albela
परीक्षा एक उत्सव
Sunil Chaurasia 'Sawan'
गाँव के रंग में
सिद्धार्थ गोरखपुरी
The Sacrifice of Ravana
Abhineet Mittal
जला दिए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
पंचशील गीत
Buddha Prakash
मोबाइल सन्देश (दोहा)
N.ksahu0007@writer
शासन वही करता है
gurudeenverma198
हिन्दी थिएटर के प्रमुख हस्ताक्षर श्री पंकज एस. दयाल जी...
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
(((मन नहीं लगता)))
दिनेश एल० "जैहिंद"
अब कोई कुरबत नहीं
Dr. Sunita Singh
नया सूर्योदय
Vikas Sharma'Shivaaya'
पितृ ऋण
Shyam Sundar Subramanian
💐प्रेम की राह पर-28💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
हंसकर गमों को एक घुट में मैं इस कदर पी...
Krishan Singh
!¡! बेखबर इंसान !¡!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
पिता
कुमार अविनाश केसर
मेरी राहे तेरी राहों से जुड़ी
Dr. Alpa H.
अम्बेडकर जी के सपनों का भारत
Shankar J aanjna
शहीद रामचन्द्र विद्यार्थी
Jatashankar Prajapati
Motivation ! Motivation ! Motivation !
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
साधु न भूखा जाय
श्री रमण
लाडली की पुकार!
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
Loading...