Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#2 Trending Author
May 15, 2022 · 1 min read

याद मेरी तुम्हे आती तो होगी

मेरी तुम्हे आती तो होगी
आकर तुम्हे सताती तो होगी।।

सुबह जब तुम उठती तो होगी,
नींद तुम्हारी खुलती तो होगी।
पास न पाती जब तुम मुझको,
दिल में बैचैनी होती तो होगी।।
याद मेरी,तुम्हे,,,,,,,,,,,,,,,,

ठंडी हवा सुबह चलती तो होगी,
मेरा संदेश तुम्हे देती तो होगी।
मिलता न जब संदेश तुम्हे मेरा,
दिल में तडपन होती तो होगी।।
याद मेरी,तुम्हे,,,,,,,,,,,,,

नहाने जब तुम जाती तो होगी,
जल से बदन भिगोती तो होगी।
होता होगा जब एक स्पर्श निराला,
तन की तपिश बुझती तो होगी।
याद मेरी,तुम्हे,,,,,,,,,,,

भोजन जब तुम बनाती तो होगी,
थाली में जब तुम लगाती तो होगी।
खाने को न होगा जब पास तुम्हारे,
याद मेरी तुम्हे आती तो होगी।।
याद मेरी,तुम्हे,,,,,,,,

दिन रात का जब मिलन होता होगा,
सूर्य जब पश्चिम में अस्त होता होगा।
दीपक जलाओगी जब प्रकाश के लिए,
अपने दीपक की याद आती तो होगी।
याद मेरी,तुम्हे ,,,,,,,

आमो में जब बोर आता होगा,
कोयल उस पर मंडराती होगी,
सुनती होगी जब तुम मधुर तान,
पिया की मधुर आवाज आती तो होगी,
याद मेरी, तुम्हे,,,,,,,,,

आर के रस्तोगी गुरुग्राम

2 Likes · 2 Comments · 138 Views
You may also like:
सर रख कर रोए।
Taj Mohammad
लाडली की पुकार!
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
$प्रीतम के दोहे
आर.एस. 'प्रीतम'
गम हो या हो खुशी।
Taj Mohammad
सनातन संस्कृति
मनोज कर्ण
मोरे सैंया
DESH RAJ
मन की उलझने
Aditya Prakash
शरद ऋतु ( प्रकृति चित्रण)
Vishnu Prasad 'panchotiya'
हे तात ! कहा तुम चले गए...
मनोज कर्ण
हर सिम्त यहाँ...
अश्क चिरैयाकोटी
रोटी संग मरते देखा
शेख़ जाफ़र खान
लघुकथा: ऑनलाइन
Ravi Prakash
"वो पिता मेरे, मै बेटी उनकी"
रीतू सिंह
💐 गुजरती शाम के पैग़ाम💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
सुन री पवन।
Taj Mohammad
बुलबुला
मनोज शर्मा
हम हर गम छुपा लेते हैं।
Taj Mohammad
इब्ने सफ़ी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
महका हम करेंगें।
Taj Mohammad
बालू का पसीना "
Dr Meenu Poonia
मेरे पापा
Anamika Singh
ज़िंदगी का हीरो
AMRESH KUMAR VERMA
सर्वप्रिय श्री अख्तर अली खाँ
Ravi Prakash
पितृ स्वरूपा,हे विधाता..!
मनोज कर्ण
सदा बढता है,वह 'नायक', अमल बन ताज ठुकराता|
Pt. Brajesh Kumar Nayak
सद्ज्ञानमय प्रकाश फैलाना हमारी शान है |
Pt. Brajesh Kumar Nayak
दोस्ती अपनी जगह है आशिकी अपनी जगह
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
माँ तुम सबसे खूबसूरत हो
Anamika Singh
हंसगति छंद , विधान और विधाएं
Subhash Singhai
माहौल
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...