Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Nov 8, 2016 · 1 min read

याद तुम्हारी बहुत रुलाये/मंदीपसाई

याद तुम्हारी बहुत रुलाये/मंदीप

ये गलिया तेरी याद दिलाये,
बिता हुआ कल बहुत सताये।

इस तन्हाई के दौर में,
तुम्हारी याद बहुत रुलाये।

मानता नही दिल आजकल बात मेरी,
अब इस दिल को कैसे समजाये।

लगा ये रोग प्यार का कैसा ,
तन्हाई में दिल तेरी तस्वीर गले लगाये।

है दर्द कितना इस दिल में,
आँसू मेरे दिल का हाल बताये।

लगाओगे उठा कर हम को गले,
इसी आस में कब से पलखे बिछाये।

प्यार हम को है कितना तुम से,
हम आप को कैसे जताये।

है नही “मंदीप” कुछ भी बिन तुम्हारे,
हम ये बात आप को कैसे समजाये।

मंदीपसाई

163 Views
You may also like:
जुल्म की इन्तहा
DESH RAJ
【25】 *!* विकृत विचार *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
दिल तड़फ रहा हैं तुमसे बात करने को
Krishan Singh
कोई न अपना
AMRESH KUMAR VERMA
जंत्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जो देखें उसमें
Dr.sima
परिस्थितियों के आगे न झुकना।
Anamika Singh
आओ तुम
sangeeta beniwal
प्रेम
Dr.sima
✍️इंसान के पास अपना क्या था?✍️
"अशांत" शेखर
सदा बढता है,वह 'नायक', अमल बन ताज ठुकराता|
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Is It Possible
Manisha Manjari
धोखा
Anamika Singh
✍️कधी कधी✍️
"अशांत" शेखर
फर्क पिज्जा में औ'र निवाले में।
सत्य कुमार प्रेमी
भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा बदे सरकार से अपील
आकाश महेशपुरी
चंद सांसे अभी बाकी है
Arjun Chauhan
✍️वास्तविकता✍️
"अशांत" शेखर
गर्मी
Ram Krishan Rastogi
✍️आखरी सफर पे हूँ...✍️
"अशांत" शेखर
भक्त कवि स्वर्गीय श्री रविदेव_रामायणी*
Ravi Prakash
यादें आती हैं
Krishan Singh
गम तेरे थे।
Taj Mohammad
महाराष्ट्र में सत्ता परिवर्तन
Ram Krishan Rastogi
आ लौट के आजा घनश्याम
Ram Krishan Rastogi
जलवा ए अफ़रोज़।
Taj Mohammad
क्या होता है पिता
gurudeenverma198
भारत की जाति व्यवस्था
AMRESH KUMAR VERMA
✍️✍️हादसा✍️✍️
"अशांत" शेखर
विसाले यार ना मिलता है।
Taj Mohammad
Loading...