Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 15, 2021 · 1 min read

यादों की परछाइयां

उस सोलहवें साल में
अजीबोगरीब-से हाल में
पल भर के मिलन के बाद
उम्र भर की जुदाई को
कैसे कोई याद करे-२
(१)
उस मौत-से सन्नाटे में
कब्र-से वीराने में
रूहों को हैरान करती हुई
गूंजती रही शहनाई को
कैसे कोई याद करे-२
(२)
रूप की उन गलियों में
खोखली रंगरलियों में
दौलत की खुमारी में हुई
प्यार की रूसवाई को
कैसे कोई याद करे-२
(३)
जिसे उमंगों ने बनाया था,
अल्हड़ तरंगों ने सजाया था
सपनों के उस शहर में
एकाएक मची तबाही को
कैसे कोई याद करे-२
(४)
जीवन में जिससे पहली बार
मची दिल में एक हाहाकार
अंग-अंग में कांटे-सी
उस चुभती हुई तनहाई को
कैसे कोई याद करे-२
(५)
जिसने अच्छा-खासा सबकुछ
उलट-पुलट कर रख दिया
जज्बात की गर्दन पर ली गई
उस वक्त की अंगड़ाई को
कैसे कोई याद करे-२
(६)
सबकुछ मिट जाने के बाद
जो रह गई मेरे पास
बिछड़े हुए साथी की
यादों की उस परछाई को
कैसे कोई याद करे-२

Yadon Ki Parchhaian
By
Shekhar Chandra Mitra

2 Likes · 213 Views
You may also like:
वो हैं , छिपे हुए...
मनोज कर्ण
【28】 *!* अखरेगी गैर - जिम्मेदारी *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
" मैं हूँ ममता "
मनोज कर्ण
पिता मेरे /
ईश्वर दयाल गोस्वामी
शहीद बनकर जब वह घर लौटा
Anamika Singh
सुना है।
Taj Mohammad
जिन्दगी रो पड़ी है।
Taj Mohammad
♡ तेरा ख़याल ♡
Dr.Alpa Amin
महसूस करो
Dr fauzia Naseem shad
देश की रक्षा करें हम
Swami Ganganiya
दिल ने
Anamika Singh
ख़्वाब आंखों के
Dr fauzia Naseem shad
"हम्प्टी शर्मा की दुल्हनिया" के "अंगद" यानि सिद्धार्थ नहीं रहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
✍️तलाश ज़ारी रखनी चाहिए✍️
"अशांत" शेखर
✍️तकदीर-ए-मुर्शद✍️
"अशांत" शेखर
बड़ी आरज़ू होती है ......................
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
A pandemic 'Corona'
Buddha Prakash
इश्क भी कलमा।
Taj Mohammad
दुनिया
Rashmi Sanjay
*सदा तुम्हारा मुख नंदी शिव की ही ओर रहा है...
Ravi Prakash
मेरे कच्चे मकान की खपरैल
Umesh Kumar Sharma
हम भी है आसमां।
Taj Mohammad
नहीं छिपती
shabina. Naaz
" मां भवानी "
Dr Meenu Poonia
.✍️स्काई इज लिमिटच्या संकल्पना✍️
"अशांत" शेखर
✍️क़हर✍️
"अशांत" शेखर
जीभ का कमाल
विजय कुमार अग्रवाल
हम कहाँ लिख पाते 
Dr.Alpa Amin
क्या नाम दे ?
Taj Mohammad
सोलह शृंगार
श्री रमण 'श्रीपद्'
Loading...