#16 Trending Author
Jan 18, 2022 · 1 min read

यह रिश्ता अजीब है

वह न करीब है
न दूर है
समझ नहीं आता
क्या नाम दूं
इस रिश्ते को पर
यह रिश्ता अजीब है
यूं तो खत्म हो जायेगी
मेरी दुनिया गर
किसी रोज वह न रहा तो पर
उसके रहते
मुझे हर पल महसूस होता कि
मेरी जिन्दगी जैसे रुक सी
गई
कितनी भी कोशिश करूं पर
यह नहीं चल रही।

मीनल
सुपुत्री श्री प्रमोद कुमार
इंडियन डाईकास्टिंग इंडस्ट्रीज
सासनी गेट, आगरा रोड
अलीगढ़ (उ.प्र.) – 202001

1 Like · 1 Comment · 117 Views
You may also like:
तेरे रोने की आहट उसको भी सोने नहीं देती होगी
Krishan Singh
* अदृश्य ऊर्जा *
Dr. Alpa H.
*ओ भोलेनाथ जी* "अरदास"
Shashi kala vyas
भ्राजक
DR ARUN KUMAR SHASTRI
गुरु तेग बहादुर जी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
वो
Shyam Sundar Subramanian
प्रलयंकारी कोरोना
Shriyansh Gupta
पिता
नवीन जोशी 'नवल'
संस्मरण:भगवान स्वरूप सक्सेना "मुसाफिर"
Ravi Prakash
वसंत
AMRESH KUMAR VERMA
💐प्रेम की राह पर-22💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तप रहे हैं प्राण भी / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पिता
रिपुदमन झा "पिनाकी"
मेरी भोली ''माँ''
पाण्डेय चिदानन्द
रुक जा रे पवन रुक जा ।
Buddha Prakash
मज़हबी उन्मादी आग
Dr. Kishan Karigar
ज़रा सामने बैठो।
Taj Mohammad
मैं परछाइयों की भी कद्र करता हूं
VINOD KUMAR CHAUHAN
पिताजी
विनोद शर्मा सागर
💐प्रेम की राह पर-24💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
An abeyance
Aditya Prakash
*!* "पिता" के चरणों को नमन *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
पिता - नीम की छाँव सा - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
ग़ज़ल- कहां खो गये- राना लिधौरी
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
मिटटी
Vikas Sharma'Shivaaya'
कोई तो है कहीं पे।
Taj Mohammad
कहने से
Rakesh Pathak Kathara
🌺🌺दोषदृष्टया: साधके प्रभावः🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तेरा यह आईना
gurudeenverma198
बगुले ही बगुले बैठे हैं, भैया हंसों के वेश में
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...