Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 27, 2021 · 1 min read

यह बरखा और याद तुम्हारी(बरसात)

दूर दिशा कजरारे बदरा
मन का चैन चुराए
दामिनी दमक रही घन माही
हिय में शूल चुभाए
तुम याद बहुत आए

तन मन भिगो रही जलधारा
शीतल हो गया आंगन द्वारा
पर अंतर्मन में यह जल भी
विरह की आग लगाए
तुम याद बहुत आए

चातक रटन लगाए घन में
कोकिल कुक रही है वन में
चटक रही हैं कलिकाएं पर
मेरे मन को न भाएँ
तुम याद बहुत आए!

धरा धानी चुनर लहराए
उमग उमग कर नाचे गाए
पर विरहन को इन बूंदों की
शीतलता ने भाएँ
तुम याद बहुत आए!

दूर देश साजन का डेरा
पलकों को आंसू ने घेरा
टप टप गिरती बरखा बूंदे
मम हृदय में शूल चुभाएँ
तुम याद बहुत आए!

बूंदों संग बहती पुरवाई
सिहर धरा ने ली अंगड़ाई
सांझ सकारे राह निहारूँ
नयन सजल हो आए
तुम याद बहुत आए!

1 Like · 2 Comments · 173 Views
You may also like:
रूसवा है मुझसे जिंदगी
VINOD KUMAR CHAUHAN
जिन्दगी खर्च हो रही है।
Taj Mohammad
आईनें में सूरत।
Taj Mohammad
ये जिन्दगी एक तराना है।
Taj Mohammad
रक्षाबंधन भाई बहन का त्योहार
Ram Krishan Rastogi
कोई रास्ता मुझे
Dr fauzia Naseem shad
मेरे गाँव में होने लगा है शामिल थोड़ा शहर [प्रथम...
AJAY AMITABH SUMAN
विश्व मजदूर दिवस पर दोहे
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
लगदी तू मुझकों कमाल sodiye
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
यह कौन सा विधान है
Vishnu Prasad 'panchotiya'
✍️माय...!✍️
'अशांत' शेखर
किसी के मेयार पर
Dr fauzia Naseem shad
बदल गए अन्दाज़।
Taj Mohammad
राज का अंश रोमी
Dr Meenu Poonia
जीवन जीत हैं।
Dr.sima
" भेड़ चाल कहूं या विडंबना "
Dr Meenu Poonia
वक्त की उलझनें
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
“माटी ” तेरे रूप अनेक
DESH RAJ
सवालों के घेरे में देश का भविष्य
Dr fauzia Naseem shad
तू नज़र में
Dr fauzia Naseem shad
बहुत अच्छा लगता है ..
ओनिका सेतिया 'अनु '
हर ख्वाहिश।
Taj Mohammad
✍️दो आँखे एक तन्हा ख़्वाब✍️
'अशांत' शेखर
चाँद
विजय कुमार अग्रवाल
किसी को भूल कर
Dr fauzia Naseem shad
'जिंदगी'
Godambari Negi
करवा चौथ
Manoj Tanan
कई चेहरे होते है।
Taj Mohammad
नशे में मुब्तिला है।
Taj Mohammad
पिता
कुमार अविनाश केसर
Loading...