Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#28 Trending Author
Jul 10, 2022 · 1 min read

यह जिन्दगी

मै तो अल्हड़ हवा की
झोके की तरह
चलना चाहिए रही थी
पर यह जिन्दगी है
जो पग-पग पर ठेस लगाकर
मुझे सम्भल कर
चलने को कह रही है।

~अनामिका

3 Likes · 4 Comments · 55 Views
You may also like:
दर्द होता है
Dr fauzia Naseem shad
भारत लोकतंत्र एक पर्याय
Rj Anand Prajapati
'पिता' संग बांटो बेहद प्यार....
Dr.Alpa Amin
ग्रह और शरीर
Vikas Sharma'Shivaaya'
जल की अहमियत
Utsav Kumar Aarya
सुरज दादा
Anamika Singh
*चली ससुराल जाती हैं (गीतिका)*
Ravi Prakash
✍️✍️ठोकर✍️✍️
'अशांत' शेखर
इश्क है क्या
Anamika Singh
सिपाही
Buddha Prakash
कर्म पथ
AMRESH KUMAR VERMA
अब और नहीं सोचो
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
कैसी तेरी खुदगर्जी है
Kavita Chouhan
निगहबानी।
Taj Mohammad
आजकल के अपने
Anamika Singh
शमा से...!!!
Kanchan Khanna
पुस्तैनी जमीन
आकाश महेशपुरी
मुझसे मेरा हाल न पूछे
Shiva Awasthi
सरकारी चिकित्सक
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
लौट आते तो
Dr fauzia Naseem shad
नीड़ फिर सजाना है
Saraswati Bajpai
विषय:सूर्योपासना
Vikas Sharma'Shivaaya'
श्यामपट
Buddha Prakash
मेरे कच्चे मकान की खपरैल
Umesh Kumar Sharma
बंकिम चन्द्र प्रणाम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
✍️इरादे हो तूफाँ के✍️
'अशांत' शेखर
बूंद बूंद में जीवन है
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
तिलका छंद "युद्ध"
बासुदेव अग्रवाल 'नमन'
" कोरोना "
Dr Meenu Poonia
लिखता जा रहा है वह
gurudeenverma198
Loading...