Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#1 Trending Author
Apr 25, 2022 · 1 min read

यह जिन्दगी है।

यह जिन्दगी है सबकी कहां
अच्छी होती है।

किसी की सस्ती किसी की दौलते मुजस्सम
सी होती है।।

✍✍ताज मोहम्मद✍✍

105 Views
You may also like:
बाबा साहेब जन्मोत्सव
Mahender Singh Hans
खुश रहना
dks.lhp
तुम जिंदगी जीते हो।
Taj Mohammad
“पिया” तुम बिन
DESH RAJ
कितनी सुंदरता पहाड़ो में हैं भरी.....
Dr. Alpa H. Amin
मिठास- ए- ज़िन्दगी
AMRESH KUMAR VERMA
फर्क पिज्जा में औ'र निवाले में।
सत्य कुमार प्रेमी
फूल की महक
DESH RAJ
कुछ दिन की है बात ,सभी जन घर में रह...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
क़ैद में 15 वर्षों तक पृथ्वीराज और चंदबरदाई जीवित थे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
हमारे जीवन में "पिता" का साया
इंजी. लोकेश शर्मा (लेखक)
थोड़ी मेहनत और कर लो
Nitu Sah
सर्वप्रिय श्री अख्तर अली खाँ
Ravi Prakash
💐प्रेम की राह पर-28💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पिता
Shailendra Aseem
माँ
संजीव शुक्ल 'सचिन'
कभी कभी।
Taj Mohammad
किसकी पीर सुने ? (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
【8】 *"* आई देखो आई रेल *"*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
अधुरा सपना
Anamika Singh
नशा नहीं सुहाना कहर हूं मैं
Dr Meenu Poonia
!! ये पत्थर नहीं दिल है मेरा !!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
✍️मेरी तलाश...✍️
"अशांत" शेखर
आद्य पत्रकार हैं नारद जी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
शायरी
श्याम सिंह बिष्ट
✍️'महा'राजनीति✍️
"अशांत" शेखर
जो आया है इस जग में वह जाएगा।
Anamika Singh
मां
Dr. Rajeev Jain
ग्रीष्म ऋतु भाग 1
Vishnu Prasad 'panchotiya'
न्याय का पथ
AMRESH KUMAR VERMA
Loading...