Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
May 26, 2022 · 1 min read

यह कौन सा विधान है

सुन रही वसुंधरा सुन रहा है गगन
सुमधुर गीत आज गुनगुना रही पवन।
प्रभात सूर्य तेज लिए पूर्व मुस्कुरा रहा
लाल ताम्र रंग की रश्मियाँ लुटा रहा।
कली-कली खिल उठी फुल महकने लगे
ये किस अदृश्य शक्ति का ऐसा विधान है।
कौन सा विधान है ये कौन सा विधान।

धरती अंबर का जैसे हो रहा है मिलन
वधु बनी वसुंधरा वर बना हे गगन।
रंग बिरंगी लता वधू श्रृंगार कर रही
पुष्प मोती जड़े कण्ठ हार बन रही।
भ्रमर गुनगुना रहे कोयल गीत गा रही
राग रागिनी लिए नित बहार जा रही।
मयूर नृत्य कर रहा है पंख फैलाए आज।
ये किस अदृश्य शक्ति का ऐसा विधान है
कौन सा विधान है ये कौन सा विधान है।

पर्वत की ऊँची चोंटियाँ हिमाच्छादित हुए
नील गगन को निज मस्तक धारण किए।
तटनी प्रवाह हो रहा है टेढ़ी-मेढ़ी राह पर
दूर स्वर्ण सर्प मानो रेंग रहा धराह पर।
उछल उछल के जलतरंग सागर तट आ रही
बार-बार आ रही चट्टान से टकरा रही।
दूर क्षितिज पर रवि डुबकी लगाये साँझ।
ये किस अदृश्य शक्ति का ऐसा विधान है
कौन सा विधान है ये कौन सा विधान है।

निशा प्रहर चंद्रमा रजत प्रभा बिखेर रहा
बादलों के मध्य में धीमे-धीमे चल रहा।
तारे टिमटिमा रहे श्वेत मोती समान
प्रकृति का यह विचित्र खेल है महान।
जुगनू चमचमा रहे हैं हरा प्रकाश भर।
ये किस अदृश्य शक्ति का ऐसा विधान है
कौन सा विधान है ये कौन सा विधान है।

-विष्णु प्रसाद ‘पाँचोटिया’

््््््््््््््््््््््््््््््््््््

3 Likes · 2 Comments · 126 Views
You may also like:
आशाओं की बस्ती
सूर्यकांत द्विवेदी
भारतीय युवा
AMRESH KUMAR VERMA
कलम की वेदना (गीत)
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
कृपा कर दो ईश्वर
Anamika Singh
इंसानी दिमाग
विजय कुमार अग्रवाल
सच
Vikas Sharma'Shivaaya'
भूल जाओ इस चमन में...
मनोज कर्ण
सरकारी नौकर
Dr Meenu Poonia
थक गये हैं कदम अब चलेंगे नहीं
Dr Archana Gupta
श्यामपट
Buddha Prakash
*आत्मा का स्वभाव भक्ति है : कुरुक्षेत्र इस्कॉन के अध्यक्ष...
Ravi Prakash
चौंक पड़ती हैं सदियाॅं..
Rashmi Sanjay
मन का पाखी…
Rekha Drolia
'वर्षा ऋतु'
Godambari Negi
चंद दोहे....
डॉ.सीमा अग्रवाल
शिकायत खुद से है अब तो......
डॉ. अनिल 'अज्ञात'
सदगुण ईश्वरीय श्रंगार हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"पिता"
Dr. Reetesh Kumar Khare डॉ रीतेश कुमार खरे
वनवासी संसार
सूर्यकांत द्विवेदी
हर घर तिरंगा
Dr Archana Gupta
ना झुका किसी के आगे
gurudeenverma198
*सर्वोत्तम शाकाहार है (गीत)*
Ravi Prakash
पागल बना दे
Harshvardhan "आवारा"
दर्द इतने बुरे नहीं होते
Dr fauzia Naseem shad
हमारे पापा
Anamika Singh
बुंदेली हाइकु- (राजीव नामदेव राना लिधौरी)
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
✍️ देखते रह गये..!✍️
'अशांत' शेखर
एक प्रेम पत्र
Rashmi Sanjay
जानता है
Dr fauzia Naseem shad
I love to vanish like that shooting star.
Manisha Manjari
Loading...