Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Apr 10, 2022 · 1 min read

यही तो मेरा वहम है

प्यार इश्क़ और मोहब्बत सब वहम है,
तू मेरा है ये भी बस वहम है…
तेरे लिए मैं खास हूं,
यही तो मेरा वहम है…
– कृष्ण सिंह

3 Likes · 132 Views
You may also like:
लता मंगेशकर
AMRESH KUMAR VERMA
✍️हम भारतवासी✍️
"अशांत" शेखर
बादल को पाती लिखी
अटल मुरादाबादी, ओज व व्यंग कवि
संडे की व्यथा
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
तन्हाई
Alok Saxena
उस रब का शुक्र🙏
Anjana Jain
पिता
अवध किशोर 'अवधू'
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग ५]
Anamika Singh
देशभक्ति के पर्याय वीर सावरकर
Ravi Prakash
पापा को मैं पास में पाऊँ
Dr. Pratibha Mahi
पिता
Anis Shah
न और ना प्रयोग और अंतर
Subhash Singhai
।। मेरे तात ।।
Akash Yadav
बेजुवान मित्र
AMRESH KUMAR VERMA
डर काहे का..!
"अशांत" शेखर
*!* रचो नया इतिहास *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
नन्हें फूलों की नादानियाँ
DESH RAJ
दीप तुम प्रज्वलित करते रहो।
Taj Mohammad
दिनांक 10 जून 2019 से 19 जून 2019 तक अग्रवाल...
Ravi Prakash
कल जब हम तुमसे मिलेंगे
Saraswati Bajpai
.✍️वो पलाश के फूल...!✍️
"अशांत" शेखर
आज मस्ती से जीने दो
Anamika Singh
विरह की पीड़ा जब लगी मुझे सताने
Ram Krishan Rastogi
इंसानियत
AMRESH KUMAR VERMA
हे ! धरती गगन केऽ स्वामी...
मनोज कर्ण
सारे ही चेहरे कातिल हैं।
Taj Mohammad
BADA LADKA
Prasanjeetsharma065
मंजिल की उड़ान
AMRESH KUMAR VERMA
पानी कहे पुकार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कौन कहता कि स्वाधीन निज देश है?
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...