Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

!! यथार्थ !!

!! पाँच दोहे !!

**एक**

हर कोई छलने लगा, किस पर करें यकीन,
मनवा तो बोझिल हुआ, चैन गया अब छीन ।

**दो**

कमजोरों की बात हो, रख लो उनका मान,
जो मलीन हैं जगत में, दो उनको सम्मान ।

**तीन**

पीढ़ी ऐसी आ गयी, सुने नहीं अब बात,
घर से बाहर ही रहे, दिन हो चाहे रात ।

**चार**

दशा बदल दी देश की, खेले खेल हज़ार,
साँसों के लाले पड़े, नहीं मिले तीमार ।

**पांच**

जैसे-जैसे उम्र बढ़े, अनुभव होय अपार,
मिले मान तो ठीक है, या फिर सब बेकार ।

दीपक “दीप” श्रीवास्तव

3 Likes · 4 Comments · 184 Views
You may also like:
ढूंढना दिल उसी को
Dr fauzia Naseem shad
नवजात बहू (लघुकथा)
दुष्यन्त 'बाबा'
घर घर तिरंगा अब फहराना है
Ram Krishan Rastogi
एक बात... पापा, करप्शन.. लेना
Nitu Sah
कुण्डलिया
शेख़ जाफ़र खान
✍️✍️माँ✍️✍️
'अशांत' शेखर
सुर बिना संगीत सूना.!
Prabhudayal Raniwal
वो चुप सी दीवारें
Kavita Chouhan
बंदिशें भी थी।
Taj Mohammad
सरकारी निजीकरण।
Taj Mohammad
विषपान
Vikas Sharma'Shivaaya'
एक उलझा सवाल।
Taj Mohammad
एहसासों के समंदर में।
Taj Mohammad
द्विराष्ट्र सिद्धान्त के मुख्य खलनायक
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
यादों का मंजर
Mahesh Tiwari 'Ayen'
*तजकिरातुल वाकियात* (पुस्तक समीक्षा )
Ravi Prakash
गर्मी पर दोहे
Ram Krishan Rastogi
वादी ए भोपाल हूं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बुंदेली हाइकु- (राजीव नामदेव राना लिधौरी)
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
लाडली की पुकार!
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
✍️शब्दांच्या संवेदना...✍️
'अशांत' शेखर
महब्बत का यारो, यही है फ़साना
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
नेता और मुहावरा
सूर्यकांत द्विवेदी
गुरू
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
राष्ट्रवाद का रंग
मनोज कर्ण
ख़्वाब ताबीर
Dr fauzia Naseem shad
मेरी नेकियां।
Taj Mohammad
जिंदगी देखा तुझे है आते अरु जाते हुए।
सत्य कुमार प्रेमी
जन्म दिन का खास तोहफ़ा।
Taj Mohammad
पापा ने मां बनकर।
Taj Mohammad
Loading...