Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jun 2022 · 1 min read

यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते

यत्र नार्यस्तु पूज्यन्ते

माँ भी तुम हो बेटी भी तुम पत्नी बहन सभी तुम हो,
फूलों में तुम कमल सरीखी मौसम में फागुन तुम हो ।
अग्नि से विकराल ज्वाल तुम जल से भी शीतल तुम हो,
उच्च शिखर आकाश तुम्हीं हो निम्न शिखर भूतल तुम हो।।

कान्हा संग बाँसुरी तुम्हीं हो और राम संग तीर कमान,
भजन तुम्हीं हो मंदिर में और मस्जिद में हो तुम्हीं अजान ।
तुम्ही सृष्टि की निर्मात्री हो और तुम्हीं हो पालनहार,
सावित्री बन देती जीवन दुर्गा बन करती संहार ।।

ईश्वर की सुन्दरतम रचना और सृष्टि का हो उपहार,
मन्द मलय का तन को छूना ऐसा है तेरा व्यवहार ।
पलक उठे तो फूल खिल उठें पलक गिरे तो मुरझाए,
इन्द्रधनुष मुस्कान तुम्हारी अलकें लगती चंदनहार ।।

तुम्हें बनाकर विधना ने भी जग पर ये उपकार किया,
सुन्दरता की परिभाषा को गढ़ने का आधार दिया।
किन्तु बनाकर तुझे विधाता स्वयं पड़े हैं इस भ्रम में,
उसने रखा रूप तेरा या तूने उसका धार लिया ।।

ईश्वर की इस अप्रतिम रचना का हम सब सम्मान करें,
पूजित हो जो देवगणों से उसका ना अपमान करें।
नारी तो जननी है जग की कर्ता भर्ता उपकर्ता,
आओ उसका नमन करें पूजन अर्चन यशगान करें।।

प्रकाश चंद्र, लखनऊ
(M) : 8115979002

Language: Hindi
4 Likes · 4 Comments · 260 Views
You may also like:
गुरु के अनेक रूप
ओनिका सेतिया 'अनु '
वरदान या अभिशाप फोन
AMRESH KUMAR VERMA
वक्त लगता है
कवि दीपक बवेजा
प्रकृति
लक्ष्मी सिंह
आँखों में आँसू लेकर सोया करते हो
Gouri tiwari
बेटियाँ
Shailendra Aseem
ख़ामोशी रहना मुश्किल है!
Shekhar Chandra Mitra
हमारी हस्ती।
Taj Mohammad
बरगद का दरख़्त है तू
Satish Srijan
सारे आँगन पट गए (गीतिका )
Ravi Prakash
हाथों को मंदिर में नहीं, मरघट में जोड़ गयी वो।
Manisha Manjari
मेरा दिल क्यो मचल रहा है
Ram Krishan Rastogi
“ एक अमर्यादित शब्द के बोलने से महानायक खलनायक बन...
DrLakshman Jha Parimal
चौबोला छंद (बड़ा उल्लाला) एवं विधाएँ
Subhash Singhai
आधा इंसान
GOVIND UIKEY
जान से प्यारा तिरंगा
डॉ. शिव लहरी
✍️लक्ष्य ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
नेता (Leader)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
कर्म-पथ से ना डिगे वह आर्य है।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
मुक्तक
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
एक झलक
Er.Navaneet R Shandily
अब कहाँ उसको मेरी आदत हैं
Dr fauzia Naseem shad
पता ही नहीं चला
Kaur Surinder
✍️प्रेम की राह पर-71✍️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
श्री गणेश वंदना
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Bhuneshwar Sinha Congress leader Chhattisgarh. bhuneshwar sinha politician chattisgarh
Bramhastra sahityapedia
यारी
अमरेश मिश्र 'सरल'
मैल
Gaurav Sharma
" मासूमियत भरा भय "
Dr Meenu Poonia
बेटी तो ऐसी ही होती है
gurudeenverma198
Loading...