Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
20 Apr 2022 · 2 min read

यकीन

✒️📙जीवन की पाठशाला 📖🖋️

🙏 मेरे सतगुरु श्री बाबा लाल दयाल जी महाराज की जय 🌹

जीवन चक्र ने मुझे सिखाया की हमेशा किस्मत को कोसते रहना या दोष देना भी बेवकूफी है -अक्सर कई बार कुछ गलत फैसले भी हमारी सही किस्मत को गलत कर देते हैं …,

जीवन चक्र ने मुझे सिखाया की जब जिम्मेदारियां चारों ओर से घेर लेती हैं ,आप एक अनचाहे चक्रव्यूह में फंस जाते हैं तब अमूमन सिर झुका कर बहुत कुछ सह कर सुनना और सहना पड़ता है ..गोया हमें कुछ नहीं पता ..ये वो समय होता है जब ऊंट पर बैठे इंसान को भी कुत्ता काट जाता है ..कैसे ?..सोचिये …?

जीवन चक्र ने मुझे सिखाया की इस कलयुग में लोग पैसे से तो धनी हो गए हैं पर सोच से निहायत ही गरीब हैं …,

आखिर में एक ही बात समझ आई की दर्द -गम -तकलीफ -खरीदने के लिए कहीं भी जाने की जरुरत नहीं बस आँख बंद करके कुछ लोगों पर यकीन कर लीजिये ,ये सब आपको थोक में मिल जायेंगे …!

Affirmations:
1-मेरी सोच बहुत ही सकारात्मक है…
2-मेरा मन पूर्णतया शांत है, मै सिर्फ अपने लक्ष्य पर केंद्रित हूँ ..
3-जीवन मे जो कुछ भी होता है सब अच्छे के लिए होता है…
4-मैं अपनी जिंदगी मे आने वाली हर मुसीबत को एक अवसर की तरह देखता हूं ,अपने आप को और शक्तिशाली बनाने का अवसर…
5-मैं अपने जीवन मे आने वाली चुनौतियों के लिये पूरी तरह से तैयार हूं..
6-मैं पूरी तरह से स्वस्थ हूं…
7-मै अपनी जिंदगी से बहुत प्यार करता हूं..

बाकी कल ,खतरा अभी टला नहीं है ,दो गज की दूरी और मास्क 😷 है जरूरी ….सावधान रहिये -सतर्क रहिये -निस्वार्थ नेक कर्म कीजिये -अपने इष्ट -सतगुरु को अपने आप को समर्पित कर दीजिये ….!
🙏सुप्रभात 🌹
आपका दिन शुभ हो
विकास शर्मा'”शिवाया”
🔱जयपुर -राजस्थान 🔱

Language: Hindi
Tag: कोटेशन
208 Views
You may also like:
जन-सेवक
Shekhar Chandra Mitra
वो हमें दिन ब दिन आजमाते रहे।
सत्य कुमार प्रेमी
दुख नहीं दो
shabina. Naaz
Writing Challenge- समाचार (News)
Sahityapedia
सदा सुहागन रहो
VINOD KUMAR CHAUHAN
दया करो भगवान
Buddha Prakash
हम है गरीब घर के बेटे
Swami Ganganiya
■ एक_स्तुति
*Author प्रणय प्रभात*
आजादी का अमृत महोत्सव
surenderpal vaidya
ग़ज़ल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
कुछ न कुछ छूटना तो लाज़मी है।
Rakesh Bahanwal
कटी नयन में रात...
डॉ.सीमा अग्रवाल
एक होशियार पति!
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
बिल्ले राम
Kanchan Khanna
आंख ऊपर न उठी...
Shivkumar Bilagrami
दाम रिश्तों के
Dr fauzia Naseem shad
*देवलोक जाते हैं(गीत)*
Ravi Prakash
✍️दूरियाँ वो भी सहता है ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
करके तो कुछ दिखला ना
कवि दीपक बवेजा
श्याम बैरागी : एक आशुकवि अरण्य से जन-जन, फिर सिने-रत्न...
Shyam Hardaha
चाहत का हर सिलसिला ही टूटा है।
Taj Mohammad
✍️आज तारीख 7-7✍️
'अशांत' शेखर
आप नहीं होते ऐसे सिर पे हमारे
gurudeenverma198
पितृ देव
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
राष्ट्रभाषा का सवाल
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
पिता की नियति
Prabhudayal Raniwal
हमने हिंदी को खोया है!
अशांजल यादव
आओगे मेरे द्वार कभी
Kavita Chouhan
🌹🌺कैसे कहूँ मैं अकेला हूँ, तुम्हारी याद जो है संग...
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
क्या फायदा...
Abhishek Pandey Abhi
Loading...