Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 14, 2021 · 2 min read

मौसम

मौसम के तेवर बिल्कुल बदल चुके हैं कभी चालीस तो कभी इससे अधिक लगता है सभी तनाव में जी रहे हैं मौसम के कारण या कुछ ओर कुछ स्पष्ट नहीं।कहीं विनोद उपहास नहीं दिखता बस जी रहे हैं सब पता नही कैसे लगता है सब पस्त है स्वयं से या गर्मी से हर ओर शून्य है एक निस्तब्धता सी जैसी अक्सर रात को होती है पर रात भी उमस भरी चिपचिपी सी है जैसे बारिश के बाद होती है।
जीवन में कितना ही बदलाव आ चुका हो पर लगता है पुराने दिनों का सा सुख चैन अब नहीं कुछ पैसों अट्ठनी रुपया में मुस्कुराहट खरीद सकते थे और इतना एकत्र करने में एक अलग ही आनंद व उत्साह था पर अब सब कुछ होते हुए भी कुछ नहीं शायद कुछ भी नहीं वही रोज़ की दौड़ती भागती दुनिया के चलते टूटते सपने और बैर द्वेष भरी और बदलती ज़िन्दगी बस और कुछ नहीं।एक थोथलापन या दिखावटी प्रेम जो पल भर के लिए ही होता है इसी दुनिया में कुछ आज भी पहले से है सिद्धांतप्रिय वो ज़माने से स्वयं को इतर समझते हैं डगर कोई भी हो हर हाल में प्रसन्न।पर यह समझ नहीं आता कि ये सब मौसम तय करता है या कुछ और ही इतनी गर्मी कहां से आती है आदमी के अंदर और बाहर तभी अंदर और बाहर सब तरफ एक जैसा लगता है।किसी का कुछ नहीं बनता संबंध ही टूटते है उनमें भो गर्मी आती है इसीलिए शीतल रहिये क्योंकि शांत चित से लिए फैसले अक्सर लंबे चलते है।मौसम तो पल दो पल में बदल जाता है किंतु गुज़रा वक्त और अच्छे लोग बार बार नहीं आते ।

मनोज शर्मा

2 Likes · 1 Comment · 127 Views
You may also like:
मुजीब: नायक और खलनायक ?
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ओ भोले भण्डारी
Anamika Singh
✍️बुनियाद✍️
"अशांत" शेखर
✍️सुलूक✍️
"अशांत" शेखर
रूठ गई हैं बरखा रानी
Dr Archana Gupta
My dear Mother.
Taj Mohammad
✍️बचपन से पचपन तक✍️
"अशांत" शेखर
रामलीला
VINOD KUMAR CHAUHAN
कब तुम?
Pradyumna
हमदर्द हो जो सबका मददगार चाहिए।
सत्य कुमार प्रेमी
कर लो कोशिशें।
Taj Mohammad
तेरा साथ मुझको गवारा नहीं है।
सत्य कुमार प्रेमी
एक ख़्वाब।
Taj Mohammad
खफा है जिन्दगी
Anamika Singh
आज जानें क्यूं?
Taj Mohammad
"लाइलाज दर्द"
DESH RAJ
बँटवारे का दर्द
मनोज कर्ण
💐 माये नि माये 💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हमको जो समझे हमीं सा ।
Dr fauzia Naseem shad
" tyranny of oppression "
DESH RAJ
कलयुग की माया
डी. के. निवातिया
"अंतरात्मा"
Dr.Alpa Amin
समझता है सबसे बड़ा हो गया।
सत्य कुमार प्रेमी
कड़वा है पर सत्य से भरा है।
Manisha Manjari
प्यार करने की कभी कोई उमर नही होती
Ram Krishan Rastogi
कायनात से दिल्लगी कर लो।
Taj Mohammad
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
शिक्षा पर अशिक्षा हावी होना चाहती है - डी के...
डी. के. निवातिया
हिय बसाले सिया राम
शेख़ जाफ़र खान
हम ना सोते हैं।
Taj Mohammad
Loading...