Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 1, 2022 · 1 min read

मोहब्बत की बातें।

तमाम उम्र काट दी दीवानों के शहर में हमनें।
मोहब्ब्त की बातें अब हमें अच्छी नहीं लगती।।

✍✍ताज मोहम्मद✍✍

131 Views
You may also like:
पहचान
Anamika Singh
✍️हे शहीद भगतसिंग...!✍️
'अशांत' शेखर
बात चले
सिद्धार्थ गोरखपुरी
शोर मचाने वाले गिरोह
Anamika Singh
शामिल इबादतो में
Dr fauzia Naseem shad
शायरी
श्याम सिंह बिष्ट
" अपनी ढपली अपना राग "
Dr Meenu Poonia
आईने की तरह मैं तो बेजान हूँ
सन्तोष कुमार विश्वकर्मा 'सूर्य'
थक चुकी ये ज़िन्दगी
Shivkumar Bilagrami
दर्द से खुद को
Dr fauzia Naseem shad
नाम लेकर भुला रहा है
Vindhya Prakash Mishra
महंगाई के दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
खड़े सभी इक साथ
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
गीत
Nityanand Vajpayee
“श्री चरणों में तेरे नमन, हे पिता स्वीकार हो”
Kumar Akhilesh
मै तैयार हूँ
Anamika Singh
काश
Harshvardhan "आवारा"
मन
Pakhi Jain
आया आषाढ़
श्री रमण 'श्रीपद्'
दुश्मन बना देता है।
Taj Mohammad
✍️मुतअस्सिर✍️
'अशांत' शेखर
सीधे सीधे कहते हैं।
Taj Mohammad
विश्वासघात
Mamta Singh Devaa
" नखरीली शालू "
Dr Meenu Poonia
कोशिश
Shyam Sundar Subramanian
रक्षा के पावन बंधन का, अमर प्रेम त्यौहार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पिता का साया हूँ
N.ksahu0007@writer
Life through the window during lockdown
ASHISH KUMAR SINGH
राम भरोसे (हास्य व्यंग कविता )
ओनिका सेतिया 'अनु '
गाँव की साँझ / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
Loading...