Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
Oct 29, 2016 · 1 min read

मै आज दीवाली मनाऊ कैसे/मंदीप

मै आज दीवाली मनाऊ कैसे/मंदीप

मै आज दीवाली मनाऊ कैसे,
मेरे यार पास नही दीप जलाऊ कैसे।

~~~~~~~~~~~~~~
कटती नही बैरण लम्भी राते,
ये बात मै बताऊ कैसे।

~~~~~~~~~~~~~~
है कितनी सिकायते ऐ जिंदगी,
मै मेरी सिकायत सुनाऊ कैसे।

~~~~~~~~~~~~~~~
वो आयेगा या नही आयेगा,
मै अपने मन को समजाऊ कैसे।

~~~~~~~~~~~~~~~
जाती नही उन की यादे मन से,
अब उन की यादो को बुलाऊ कैसे।

~~~~~~~~~~~~~~~~
यार ही नही मेरे पास
मै मेरे यौवन को सजाऊ कैसे।

~~~~~~~~~~~~~~~~
तड़प रहा मेरा यौवन बिन साजन,
यौवन की तड़प तुम्हारे बिन भुजाऊ कैसे।

~~~~~~~~~~~~~~~~~~
“मंदीप” कितनी ही राते बिल्कति सोई,
मै मेरे आँसुओ से बिगा तकिया दिखाऊँ कैसे।

मंदीपसाई

161 Views
You may also like:
"कल्पनाओं का बादल"
Ajit Kumar "Karn"
गरम हुई तासीर दही की / (गर्मी का नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
पिता का दर्द
Nitu Sah
जितनी मीठी ज़ुबान रक्खेंगे
Dr fauzia Naseem shad
भगवान जगन्नाथ की आरती (०१
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अपनी नज़र में खुद अच्छा
Dr fauzia Naseem shad
पिता आदर्श नायक हमारे
Buddha Prakash
जब गुलशन ही नहीं है तो गुलाब किस काम का...
लवकुश यादव "अज़ल"
जीवन संगनी की विदाई
Ram Krishan Rastogi
✍️दो पल का सुकून ✍️
Vaishnavi Gupta
बरसात
मनोज कर्ण
पिता एक विश्वास - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
पिताजी
विनोद शर्मा सागर
बारिश की बौछार
Shriyansh Gupta
हमको जो समझे हमीं सा ।
Dr fauzia Naseem shad
ऐ मातृभूमि ! तुम्हें शत-शत नमन
Anamika Singh
दहेज़
आकाश महेशपुरी
✍️कश्मकश भरी ज़िंदगी ✍️
Vaishnavi Gupta
मेरे पापा
Anamika Singh
कैसा हो सरपंच हमारा / (समसामयिक गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
छोड़ दो बांटना
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
ख़्वाब सारे तो
Dr fauzia Naseem shad
कोशिशें हों कि भूख मिट जाए ।
Dr fauzia Naseem shad
गीत
शेख़ जाफ़र खान
प्राकृतिक आजादी और कानून
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
नदी की अभिलाषा / (गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
माँ, हर बचपन का भगवान
Pt. Brajesh Kumar Nayak
तू नज़र में
Dr fauzia Naseem shad
बंशी बजाये मोहना
लक्ष्मी सिंह
इस दर्द को यदि भूला दिया, तो शब्द कहाँ से...
Manisha Manjari
Loading...