Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Aug 21, 2016 · 1 min read

मैं सावन का मेघ बनूँगा

मौसम से रूठे बादल को फिर से नहीं बुलाऊंगा ,
मैं सावन का मेघ बनूंगा और तुझे नहलाऊँगा .

साँसों में पुरवाई बहती आहों में शीतलता है
नेह के नर्म बिछौना बैठी काया की कोमलता है ,
मुखड़े की आभा लेकर मैं रातों को चमकाऊँगा .
मैं सावन का मेघ ……..

नरम घास की चादर से ,अच्छे एहसास के मखमल हैं
तेरे हुश्न की खुशबू से ,जीवन में यौवन पल पल है ,
प्रेमचंद का मैं होरी और धनियाँ तुझे बनाऊँगा
मैं सावन का मेघ ………..

बोलो शकुन्तला तुम अपनी मुंदरी कहाँ भुला आई
दमयंती बोलो किस किस को अपनी व्यथा सुना आई ,
कुछ भी नहीं अछूता कवि की नजरों से बतलाऊँगा
मैं सावन का मेघ ……….

कन्धों तक जो जुल्फ घनेरी बादल से क्या कम लगते
इन्द्रधनुषी आंचल नभ पर क्षितिज में सुन्दरतम लगते ,
स्वप्नलोक की परी हो तुम हृदयासन पर बैठाऊंगा .
मैं सावन का मेघ …….

तुमसे अगर जुदाई होगी दर्द कहाँ सह पाऊँगा
भाओं के मंडप में मैं तनहा कैसे रह पाऊंगा ,
मेघदूत की रचना क्र मैं कालिदास बन जाऊँगा .
मैं सावन का मेघ …….

****************************************

1 Like · 118 Views
You may also like:
पंचशील गीत
Buddha Prakash
बस करो अब मत तड़फाओ ना
Krishan Singh
एक दौर था हम भी आशिक हुआ करते थे
Krishan Singh
जीवन-दाता
Prabhudayal Raniwal
झुलसता पर्यावरण / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
आओ अब लौट चलें वह देश ..।
Buddha Prakash
सच
अंजनीत निज्जर
बुढ़ापे में अभी भी मजे लेता हूं
Ram Krishan Rastogi
【24】लिखना नहीं चाहता था [ कोरोना ]
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
A Warrior Of The Darkness
Manisha Manjari
नूतन सद्आचार मिल गया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
विरह वेदना जब लगी मुझे सताने
Ram Krishan Rastogi
हे ! धरती गगन केऽ स्वामी...
मनोज कर्ण
विरह का सिरा
Rashmi Sanjay
# जज्बे सलाम ...
Chinta netam " मन "
कहाँ चले गए
Taran Verma
चेहरे पर चेहरे लगा लो।
Taj Mohammad
पेड़ की अंतिम चेतावनी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
माँ तुम्हें सलाम हैं।
Anamika Singh
कबीरा...
Sapna K S
रसिया यूक्रेन युद्ध विभीषिका
Ram Krishan Rastogi
भाग्य की तख्ती
Deepali Kalra
✍️✍️हमदर्द✍️✍️
"अशांत" शेखर
मेरे पिता
rubichetanshukla रुबी चेतन शुक्ला
नियमित दिनचर्या
AMRESH KUMAR VERMA
भूले बिसरे गीत
RAFI ARUN GAUTAM
नुमाइश बना दी तुने I
Dr.sima
अशांत मन
Mahender Singh Hans
हे गुरू।
Anamika Singh
$दोहे- हरियाली पर
आर.एस. 'प्रीतम'
Loading...