Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Jul 2022 · 1 min read

मैं रात-दिन

तेरे दिल को मैं छुआ करूं ।
मैं रात-दिन ये दुआ करूं ।।

जो कहे वो रस्मे अदा करूं।
तुझे खुद से मैं न जुदा करूं।।

हम बिछड़ के जी नहीं पायेंगे।
तुझे कैसे फिर मैं विदा करूं।।

मुझे प्यार तुझसे है बेपनाह ।
मेरी जान तुझपे फिदा करूं।।

मेरी हर खुशी तेरे नाम हो ।
मैं ख़ुदा से बस ये दुआ करूं।।

डाॅ फौज़िया नसीम शाद

5 Likes · 105 Views
You may also like:
!¡! बेखबर इंसान !¡!
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार
Dr Archana Gupta
परिवाद झगड़े
ईश्वर दयाल गोस्वामी
✍️रास्ता मंज़िल का✍️
Vaishnavi Gupta
चंदा मामा बाल कविता
Ram Krishan Rastogi
''प्रकृति का गुस्सा कोरोना''
Dr Meenu Poonia
गंगा दशहरा
श्री रमण 'श्रीपद्'
झूला सजा दो
Buddha Prakash
दुनिया की आदतों में
Dr fauzia Naseem shad
दया करो भगवान
Buddha Prakash
आज अपना सुधार लो
Anamika Singh
ठोकर खाया हूँ
Anamika Singh
तुम मेरा दिल
Dr fauzia Naseem shad
हे तात ! कहा तुम चले गए...
मनोज कर्ण
मिसाले हुस्न का
Dr fauzia Naseem shad
भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा बदे सरकार से अपील
आकाश महेशपुरी
द माउंट मैन: दशरथ मांझी
साहित्य लेखन- एहसास और जज़्बात
आपसा हम जो दिल
Dr fauzia Naseem shad
वरिष्ठ गीतकार स्व.शिवकुमार अर्चन को समर्पित श्रद्धांजलि नवगीत
ईश्वर दयाल गोस्वामी
गर्मी का कहर
Ram Krishan Rastogi
【6】** माँ **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
हम मुकद्दर पर
Dr fauzia Naseem shad
न जाने क्यों
Dr fauzia Naseem shad
समय का सदुपयोग
Anamika Singh
प्यार की तड़प
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
आसान नहीं होता है पिता बन पाना
Poetry By Satendra
जाने क्या-क्या ? / (गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
बँटवारे का दर्द
मनोज कर्ण
आ ख़्वाब बन के आजा
Dr fauzia Naseem shad
पहनते है चरण पादुकाएं ।
Buddha Prakash
Loading...