Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 1, 2021 · 1 min read

मैं जब भी चाहूं मैं आज़ाद हो जाऊंगा ये सच है।

मैं जब भी चाहूं मैं आज़ाद हो जाऊंगा ये सच है।
मगर मैं ये कभी कर ही नहीं पाऊंगा ये सच है।
*****
जमाना आएगा समझायेगा देगा तसल्ली पर।
मैं तन्हाई में अपने घाव सहलाऊंगा ये सच है।
*****
बहुत मेले,बहुत ठेले,बहुत महफ़िल बहुत जलसे।
मगर इक दिन अकेला खुद को ही पाऊंगा ये सच है।
*****
अभी तुम ठोकरों पे ठोकरे दो मुझको गिरने दो।
मैं चलना सीख ही लूंगा सम्हल जाऊंगा ये सच है।
*****
मैं खुद को पाक कहता हूं मैं खुद को साफ कहता हूँ।
ये दुनियाँ बदलेगी मुझको बदल जाऊंगा ये सच है।
*****
अभी तो कारवां में हूँ अभी खुद कारवां हूँ मैं।
मगर चुपके से इक दिन मैं निकल जाऊंगा ये सच है।
*****
“नज़र” तारीफ से बचता हूँ शरमाता हूँ पर इक दिन।
मैं खुद से खुद को ही जयमाल पहनाऊंगा ये सच है।

11 Likes · 3 Comments · 376 Views
You may also like:
औरों को देखने की ज़रूरत
Dr fauzia Naseem shad
✍️✍️याद✍️✍️
'अशांत' शेखर
जब उमीदों की स्याही कलम के साथ चलती है।
Manisha Manjari
✍️जमाना नहीं रहा...✍️
'अशांत' शेखर
उम्मीद की किरण
shabina. Naaz
मेरे दिल को
Shivkumar Bilagrami
हमें अब राम के पदचिन्ह पर चलकर दिखाना है
Dr Archana Gupta
कृष्ण वंदना
लक्ष्मी सिंह
दिल में उतरते हैं।
Taj Mohammad
हर बच्चा कलाकार होता है।
लक्ष्मी सिंह
कहो अब और क्या चाहें
VINOD KUMAR CHAUHAN
बेचैन कागज
Dr Meenu Poonia
✍️न जाने वो कौन से गुनाहों की सज़ा दे रहा...
Vaishnavi Gupta
धन्य है पिता
Anil Kumar
खुदाई भरी पड़ी है।
Taj Mohammad
अरि ने अरि को
bhavishaya6t
मज़ाक।
Taj Mohammad
परी
Alok Saxena
हमारें रिश्ते का नाम।
Taj Mohammad
सगुण
DR ARUN KUMAR SHASTRI
इच्छा
Anamika Singh
जय जय तिरंगा
gurudeenverma198
आओ हम सब घर घर तिरंगा फहराए
Ram Krishan Rastogi
मैं हासिल नही हूं।
Taj Mohammad
दुआ
Alok Saxena
प्रेयसी पुनीता
Mahendra Rai
चंदा मामा
Dr. Kishan Karigar
पूनम की रात में चांद व चांदनी
Ram Krishan Rastogi
भारतीय संस्कृति के सेतु आदि शंकराचार्य
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"मायका और ससुराल"
Dr Meenu Poonia
Loading...