Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Aug 2022 · 1 min read

मैं कुछ कहना चाहता हूं

मैं कुछ कहना चाहता हूं
मुझको आज मत रोको
बड़ी मुश्किल से हिम्मत की है
मुझको आज मत टोको

दिल में तो बसी है तू
सामने क्यों नहीं आती
सबकुछ चला जाता है
तेरी याद क्यों नहीं जाती

जाने क्या चाहती है तू
मुझको क्यों नहीं बताती
दूर रहकर सताती है मुझे
कभी करीब क्यों नहीं आती

हो गया है जीना मुश्किल
जबसे तुझको देखा है मैंने
हो गई है सारी चाहतें खत्म
जबसे तुझको चाहा है मैंने

हर तरफ तू ही नज़र आता है
बस मेरे सामने नहीं आता
भर लूंगा अपनी बाहों में तुम्हें
है ये ख्याल भी सुकूं दे जाता

तू कब समझेगा मेरा प्यार
इन आंखों में तो झांक ज़रा
आकर मेरी ज़िंदगी में अब
मेरी किस्मत तो संवार ज़रा

तड़पाया है बहुत तुमने मुझे
अब खुशियों की सौगात भी दे
मेरे दिल में बसे हो बहुत दिनों से
अब अपने दिल में बसा भी दे

तुम ही तो हो चाहत मेरी
आकर ज़िंदगी को संवार मेरी
पूरी कर मेरे दिल की आरज़ू
बनकर तू अब ज़िंदगी मेरी।

Language: Hindi
10 Likes · 2 Comments · 418 Views
You may also like:
शब्द को डायनामाइट बनाने वाला जीनियस: भगतसिंह
Shekhar Chandra Mitra
दीदार ए वक्त।
Taj Mohammad
मैं इनकार में हूं
शिव प्रताप लोधी
प्रतिष्ठित मनुष्य
AMRESH KUMAR VERMA
कैसे आंखों का
Dr fauzia Naseem shad
सरस्वती आरती
संजीव शुक्ल 'सचिन'
मुझे मालूम है तु मेरा नहीं
Gouri tiwari
अपनी कहानी
Dr.Priya Soni Khare
✳️🌀मेरा इश्क़ ग़मगीन नहीं है🌀✳️
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
उस निरोगी का रोग
gurudeenverma198
हौंसला
Gaurav Sharma
नए जूते
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
ना चीज़ हो गया हूँ
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
माता प्राकट्य
Dr. Sunita Singh
# अव्यक्त ....
Chinta netam " मन "
प्रकृति कविता
Harshvardhan "आवारा"
:::::जर्जर दीया::::
MSW Sunil SainiCENA
कवि के उर में जब भाव भरे
लक्ष्मी सिंह
दिल पे क्या क्या गुज़री ghazal by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
"भैयादूज"
Dr Meenu Poonia
*महान साहित्यकार डॉक्टर छोटेलाल शर्मा नागेंद्र के पत्र*
Ravi Prakash
द्रौपदी मुर्मू'
Seema 'Tu hai na'
✍️प्यार,इश्क ही इँसा की रौनक है ✍️
'अशांत' शेखर
युवकों का निर्माण चाहिए
Pt. Brajesh Kumar Nayak
तू तो नहीं
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
परदेश
DESH RAJ
पितृ स्तुति
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
रबीन्द्रनाथ टैगोर पर तीन मुक्तक
Anamika Singh
मध्यप्रदेश पर कुण्डलियाँ
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आंसू सच्चे या झूठे
गायक और लेखक अजीत कुमार तलवार
Loading...