Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Feb 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-223💐

मैं कब निरंकुश हूँ चलो, तो भूल जाऊँगा तुम्हें?
याद आऊँगा तुम्हें, तो क्यों भूल जाऊँगा तुम्हें?

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
75 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
दुनिया का क्या दस्तूर बनाया, मरे तो हि अच्छा बतलाया
दुनिया का क्या दस्तूर बनाया, मरे तो हि अच्छा बतलाया
Anil chobisa
जीने की तमन्ना में
जीने की तमन्ना में
Satish Srijan
उम्मीद
उम्मीद
अभिषेक पाण्डेय ‘अभि ’
कसम है तुम्हें भगतसिंह की
कसम है तुम्हें भगतसिंह की
Shekhar Chandra Mitra
Things to learn .
Things to learn .
Nishant prakhar
संत साईं बाबा
संत साईं बाबा
Pravesh Shinde
रिश्तों को कभी दौलत की
रिश्तों को कभी दौलत की
rajeev ranjan
टेंशन है, कुछ समझ नहीं आ रहा,क्या करूं,एक ब्रेक लो,प्रॉब्लम
टेंशन है, कुछ समझ नहीं आ रहा,क्या करूं,एक ब्रेक लो,प्रॉब्लम
dks.lhp
तहरीर
तहरीर
DR ARUN KUMAR SHASTRI
💐प्रेम कौतुक-252💐
💐प्रेम कौतुक-252💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सुभाष चंद्र बोस जयंती
सुभाष चंद्र बोस जयंती
Ram Krishan Rastogi
*अंजनी के लाल*
*अंजनी के लाल*
Shashi kala vyas
पथिक तुम इतने विव्हल क्यों ?
पथिक तुम इतने विव्हल क्यों ?
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
जिंदगी, क्या है?
जिंदगी, क्या है?
bhandari lokesh
जब वक़्त के साथ चलना सीखो,
जब वक़्त के साथ चलना सीखो,
Nanki Patre
*अधूरा प्रेम (कुंडलिया)*
*अधूरा प्रेम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
सच अति महत्वपूर्ण यह,
सच अति महत्वपूर्ण यह,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
रेस का घोड़ा
रेस का घोड़ा
Naseeb Jinagal Koslia नसीब जीनागल कोसलिया
इश्क की गली में जाना छोड़ दिया हमने
इश्क की गली में जाना छोड़ दिया हमने
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
दिल  में हसरत  जगे तो दबाना नहीं।
दिल में हसरत जगे तो दबाना नहीं।
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
चिड़िया की बस्ती
चिड़िया की बस्ती
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
जन्म मृत्यु का विश्व में, प्रश्न सदा से यक्ष ।
जन्म मृत्यु का विश्व में, प्रश्न सदा से यक्ष ।
Arvind trivedi
पिता एक सूरज
पिता एक सूरज
डॉ. शिव लहरी
तुम नहीं आये
तुम नहीं आये
Surinder blackpen
अब साम्राज्य हमारा है युद्ध की है तैयारी ✍️✍️
अब साम्राज्य हमारा है युद्ध की है तैयारी ✍️✍️
Rohit yadav
हक औरों का मारकर, बने हुए जो सेठ।
हक औरों का मारकर, बने हुए जो सेठ।
डॉ.सीमा अग्रवाल
जो ख्वाब में मिलते हैं ...
जो ख्वाब में मिलते हैं ...
लक्ष्मी सिंह
बिन गुनाहों के ही सज़ायाफ्ता है
बिन गुनाहों के ही सज़ायाफ्ता है "रत्न"
गुप्तरत्न
"सारे साथी" और
*Author प्रणय प्रभात*
//एहसास//
//एहसास//
AVINASH (Avi...) MEHRA
Loading...