Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Feb 2023 · 1 min read

💐अज्ञात के प्रति-67💐

मैं उनके दिल के करीब रहूँगा,
वो मेरे दिल के करीब रहेंगे।

©®अभिषेक: पाराशरः ‘आनन्द’

Language: Hindi
84 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
🌹तू दीवानी बन जाती 🌹
🌹तू दीवानी बन जाती 🌹
Dr.Khedu Bharti
संत कबीरदास
संत कबीरदास
Pravesh Shinde
मेरे अंशुल तुझ बिन.....
मेरे अंशुल तुझ बिन.....
Santosh Soni
कवित्त छंद ( परशुराम जयंती )
कवित्त छंद ( परशुराम जयंती )
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
सच है, दुनिया हंसती है
सच है, दुनिया हंसती है
Saraswati Bajpai
Kohre ki bunde chhat chuki hai,
Kohre ki bunde chhat chuki hai,
Sakshi Tripathi
उनकी महफ़िल में मेरी हालात-ए-जिक्र होने लगी
उनकी महफ़िल में मेरी हालात-ए-जिक्र होने लगी
'अशांत' शेखर
कहानियां ख़त्म नहीं होंगी
कहानियां ख़त्म नहीं होंगी
Shekhar Chandra Mitra
मंगल दीप जलाओ रे
मंगल दीप जलाओ रे
नेताम आर सी
Kabhi kabhi har baat se fark padhta hai mujhe
Kabhi kabhi har baat se fark padhta hai mujhe
Roshni Prajapati
मुहब्बत का घुट
मुहब्बत का घुट
Vijay kannauje
श्री राम राज्याभिषेक
श्री राम राज्याभिषेक
नवीन जोशी 'नवल'
क्या विरासत में हिस्सा मिलता है
क्या विरासत में हिस्सा मिलता है
Dr fauzia Naseem shad
🙅नई परिभाषा🙅
🙅नई परिभाषा🙅
*Author प्रणय प्रभात*
सावन आया झूम के .....!!!
सावन आया झूम के .....!!!
Kanchan Khanna
प्यारा सुंदर वह जमाना
प्यारा सुंदर वह जमाना
Vishnu Prasad 'panchotiya'
माँ सच्ची संवेदना....
माँ सच्ची संवेदना....
डॉ.सीमा अग्रवाल
जीवन में जब संस्कारों का हो जाता है अंत
जीवन में जब संस्कारों का हो जाता है अंत
प्रेमदास वसु सुरेखा
दोहा
दोहा
प्रीतम श्रावस्तवी
*वो बीता हुआ दौर नजर आता है*(जेल से)
*वो बीता हुआ दौर नजर आता है*(जेल से)
Dushyant Kumar
"प्यासा कुआँ"
Dr. Kishan tandon kranti
हों जो तुम्हे पसंद वही बात कहेंगे।
हों जो तुम्हे पसंद वही बात कहेंगे।
Rj Anand Prajapati
मकर राशि मे सूर्य का जाना
मकर राशि मे सूर्य का जाना
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
असंवेदनशीलता
असंवेदनशीलता
Shyam Sundar Subramanian
💐अज्ञात के प्रति-13💐
💐अज्ञात के प्रति-13💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
किसी की गलती देखकर तुम शोर ना करो
किसी की गलती देखकर तुम शोर ना करो
कवि दीपक बवेजा
52 बुद्धों का दिल
52 बुद्धों का दिल
Mr. Rajesh Lathwal Chirana
"ज़िंदगी जिंदादिली का नाम है, मुर्दादिल क्या खाक़ जीया करते है
Mukul Koushik
*जिंदगी तब तक सही है, देह में उत्साह है (मुक्तक)*
*जिंदगी तब तक सही है, देह में उत्साह है (मुक्तक)*
Ravi Prakash
अपनी टोली
अपनी टोली
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Loading...