Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-384💐

मैं उनका इंतिज़ार करूँ,वो मेरा इंतिज़ार करें,
ख़्वाबों की उठती लहरों का वो इज़हार करें,
सारी अस्क़ाम उनके छूने से हीं मिट जाएँगी,
सामने आकर वो मेरा फिर से एतिबार करें।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
43 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
क्या मैं थी
क्या मैं थी
Surinder blackpen
"श्रृंगारिका"
Ekta chitrangini
इन्तजार है हमको एक हमसफर का।
इन्तजार है हमको एक हमसफर का।
Taj Mohammad
भिक्षु रूप में ' बुद्ध '
भिक्षु रूप में ' बुद्ध '
Buddha Prakash
धूर्ततापूर्ण कीजिए,
धूर्ततापूर्ण कीजिए,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
ज़िदादिली
ज़िदादिली
Shyam Sundar Subramanian
अपना प्यारा जालोर जिला
अपना प्यारा जालोर जिला
Shankar J aanjna
आहाँ अपन किछु कहैत रहू ,आहाँ अपन किछु लिखइत रहू !
आहाँ अपन किछु कहैत रहू ,आहाँ अपन किछु लिखइत रहू !
DrLakshman Jha Parimal
*हार में भी होंठ पर, मुस्कान रहना चाहिए 【मुक्तक】*
*हार में भी होंठ पर, मुस्कान रहना चाहिए 【मुक्तक】*
Ravi Prakash
मिलन फूलों का फूलों से हुआ है_
मिलन फूलों का फूलों से हुआ है_
Rajesh vyas
दान देने के पश्चात उसका गान  ,  दान की महत्ता को कम ही नहीं
दान देने के पश्चात उसका गान , दान की महत्ता को कम ही नहीं
Seema Verma
ये जनाब नफरतों के शहर में,
ये जनाब नफरतों के शहर में,
ओनिका सेतिया 'अनु '
प्यारी बेटी नितिका को जन्मदिवस की हार्दिक बधाई
प्यारी बेटी नितिका को जन्मदिवस की हार्दिक बधाई
विक्रम कुमार
तुम मेरी किताबो की तरह हो,
तुम मेरी किताबो की तरह हो,
Vishal babu (vishu)
घाट किनारे है गीत पुकारे, आजा रे ऐ मीत हमारे…
घाट किनारे है गीत पुकारे, आजा रे ऐ मीत हमारे…
Anand Kumar
2266.
2266.
Dr.Khedu Bharti
माँ तेरे चरणों
माँ तेरे चरणों
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
नन्हे बाल गोपाल के पाच्छे मैया यशोदा दौड़ लगाये.....
नन्हे बाल गोपाल के पाच्छे मैया यशोदा दौड़ लगाये.....
Ram Babu Mandal
💐प्रेम कौतुक-410💐
💐प्रेम कौतुक-410💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
पुराने सिक्के
पुराने सिक्के
Satish Srijan
चाहता है जो
चाहता है जो
सुशील मिश्रा (क्षितिज राज)
बेटी की बिदाई ✍️✍️
बेटी की बिदाई ✍️✍️
Tarun Prasad
बेटी आएगी, तो खुशियां लाएगी।
बेटी आएगी, तो खुशियां लाएगी।
Rajni kapoor
राह नहीं मंजिल नहीं बस अनजाना सफर है
राह नहीं मंजिल नहीं बस अनजाना सफर है
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
कविता-शिश्कियाँ बेचैनियां अब सही जाती नहीं
कविता-शिश्कियाँ बेचैनियां अब सही जाती नहीं
Shyam Pandey
रास्ते जिंदगी के हंसते हंसते कट जाएंगे
रास्ते जिंदगी के हंसते हंसते कट जाएंगे
कवि दीपक बवेजा
हमारी मूर्खता ही हमे ज्ञान की ओर अग्रसर करती है।
हमारी मूर्खता ही हमे ज्ञान की ओर अग्रसर करती है।
शक्ति राव मणि
You know ,
You know ,
Sakshi Tripathi
■ अनुभूत सच
■ अनुभूत सच
*Author प्रणय प्रभात*
बरसात
बरसात
लक्ष्मी सिंह
Loading...