Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Dec 2022 · 1 min read

मैं अवला नही (#हिन्दी_कविता)

संतान ने मुझे त्यागा,
प्रभू ने मेरी सुहाग छिना,
बेरंग सा जीवन बना,
लोग मुझे अभागी कहता,
पर मै जीद्दि ठहरा,
आत्मनिर्भरता का मार्ग चुना,
श्वेत वस्त्र मे हूँ सज्जा,
स्ट्रिट भैजिटेवल बेचता,
लोग बेचारी मुझे कहता,
पर अपने दम पर मै जिता
मै नही अवला !!

■#दिनेश_यादव
काठमाण्डू (नेपाल)

Language: Hindi
Tag: कविता
2 Likes · 102 Views
You may also like:
*दूरंदेशी*
*दूरंदेशी*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
हे! ज्ञानदायनी
हे! ज्ञानदायनी
Satish Srijan
दिल कुछ आहत् है
दिल कुछ आहत् है
श्री रमण 'श्रीपद्'
💐अज्ञात के प्रति-35💐
💐अज्ञात के प्रति-35💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मशगूलियत।
मशगूलियत।
Taj Mohammad
उज्ज्वल भविष्य हैं
उज्ज्वल भविष्य हैं
Taran Singh Verma
जो मेरी जान लेने का इरादा ओढ़ के आएगा
जो मेरी जान लेने का इरादा ओढ़ के आएगा
Harinarayan Tanha
दिन भर रोशनी बिखेरता है सूरज
दिन भर रोशनी बिखेरता है सूरज
कवि दीपक बवेजा
संगीत सुनाई देता है
संगीत सुनाई देता है
Dr. Sunita Singh
✍️खामोश लबों को ✍️
✍️खामोश लबों को ✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
प्रकृति सुनाये चीखकर, विपदाओं के गीत
प्रकृति सुनाये चीखकर, विपदाओं के गीत
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
अब वो किसी और से इश्क़ लड़ाती हैं
अब वो किसी और से इश्क़ लड़ाती हैं
Writer_ermkumar
बेटियां
बेटियां
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
विरहन
विरहन
umesh mehra
मुक्तक
मुक्तक
Dr. Girish Chandra Agarwal
सोचता हूं कैसे भूल पाऊं तुझे
सोचता हूं कैसे भूल पाऊं तुझे
Er.Navaneet R Shandily
रवीश कुमार का मज़ाक
रवीश कुमार का मज़ाक
Shekhar Chandra Mitra
गर्दिश -ए- दौराँ
गर्दिश -ए- दौराँ
Shyam Sundar Subramanian
पिता की व्यथा
पिता की व्यथा
मनोज कर्ण
✍️कर्म से ही वजूद…
✍️कर्म से ही वजूद…
'अशांत' शेखर
शेर
शेर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
If I become a doctor, I will open hearts of 33 koti people a
If I become a doctor, I will open hearts of...
Ankita Patel
फना
फना
shabina. Naaz
*कहीं जन्म की खुशियॉं हैं, तो कहीं मौत का गम है (हिंदी गजल ग
*कहीं जन्म की खुशियॉं हैं, तो कहीं मौत का गम...
Ravi Prakash
आँखों में आँसू लेकर सोया करते हो
आँखों में आँसू लेकर सोया करते हो
Gouri tiwari
ज़िंदगी में न ज़िंदगी देखी
ज़िंदगी में न ज़िंदगी देखी
Dr fauzia Naseem shad
हमारा सब्र तो देखो
हमारा सब्र तो देखो
Surinder blackpen
★रात की बात★
★रात की बात★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
■ आज का दोहा...
■ आज का दोहा...
*Author प्रणय प्रभात*
आया यह मृदु - गीत कहाँ से!
आया यह मृदु - गीत कहाँ से!
Anil Mishra Prahari
Loading...