Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#4 Trending Author

✍️मैंने पूछा कलम से✍️

✍️मैंने पूछा कलम से ✍️
————————————–//
मैंने पूछा कलम से
किसके लिये क्या लिखूं ?
कलम ने कहाँ
राम के लिये “मर्यादा”
सीता के लिये “अग्निपरीक्षा”
कृष्ण के लिये “वरदान”
राधा के लिये “प्रेम निराला”
मीरा के लिये “विष का प्याला”
लिखिये।
मैंने लिखा…!
द्रौपदी के लिये “अपमान”

मैंने पूछा कलम से
किसके लिये क्या लिखूं ?
कलम ने कहाँ
भीष्म के लिये “प्रतिज्ञा”
दोर्णाचार्य के लिये “गुरु”
अर्जुन के लिये “धनुर्धर”
भीम के लिये “बलवान”
कर्ण के लिये “दान”
लिखिये।
मैंने लिखा
एकलव्य के लिये “पक्षपात”

मैंने पूछा कलम से
किसके लिये क्या लिखूं ?
कलम ने कहाँ
ग़ालिब के लिये “अंदाज़-ए-बयाँ”
मीर के लिये “क़सीदे”
ख़य्याम के लिये “रुबाई”
फ़ाजली के लिये “नज़्म”
लिखिये।
मैंने लिखा
कैफ़ी के लिये “आवाज़”

मैंने पूछा कलम से
किसके लिये क्या लिखूं ?
कलम ने कहाँ
हरिवंशजी के लिये “मधुशाला”
गुलज़ार के लिये “दर्द”
ज़ावेद के लिये “संवेदना”
राहत के लिये “चाहत”
लिखिये।
मैंने लिखा
दुष्यन्त के लिये “आग”

मैंने पूछा कलम से
किसके लिये क्या लिखूं ?
कलम ने कहाँ
गांधीजी के लिये “अंहिसा”
नेहरूजी के लिये “शांतिदूत”
पटेलजी के लिये “फौलाद”
सुभाषजी के लिये “आझादी”
लिखिए।
मैंने लिखा
भगतसिंह के लिये “मिसाल”

मैंने पूछा कलम से
ख़ुदा के लिये क्या लिखूं ?
कलम ने कहाँ लिखिये।
सिद्धार्थ गौतम के लिये “मार्गदाता”
भीमराव बाबा के लिये “मुक्तिदाता”
———————————————————//
✍️”अशांत”शेखर✍️
05/06/2022

5 Likes · 19 Comments · 137 Views
You may also like:
वो हमें दिन ब दिन आजमाते रहे।
सत्य कुमार प्रेमी
नारी है सम्मान।
Taj Mohammad
देखते देखते
shabina. Naaz
उलझनें_जिन्दगी की
मनोज कर्ण
बस एक ही भूख
DESH RAJ
पुस्तक समीक्षा
Rashmi Sanjay
बादल का रौद्र रूप
ओनिका सेतिया 'अनु '
✍️✍️याद✍️✍️
'अशांत' शेखर
करके शठ शठता चले
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
धैर्य रखना सीखों
Anamika Singh
प्रोफेसर ईश्वर शरण सिंहल का साहित्यिक योगदान (लेख)
Ravi Prakash
** भावप्रतिभाव **
Dr.Alpa Amin
साथ तुम्हारा
Rashmi Sanjay
वैराग्य
Pt. Brajesh Kumar Nayak
अदना
Shyam Sundar Subramanian
फ़ौजी
Lohit Tamta
दर्द सबका भी सब
Dr fauzia Naseem shad
कमली हुई तेरे प्यार की
Swami Ganganiya
कलयुग का आरम्भ है।
Taj Mohammad
कलयुग की माया
डी. के. निवातिया
✍️मौत का जश्न✍️
'अशांत' शेखर
✍️दो पंक्तिया✍️
'अशांत' शेखर
【34】*!!* आग दबाये मत रखिये *!!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
कुछ काम करो
Anamika Singh
ऐ वतन!
Anamika Singh
Little baby !
Buddha Prakash
ठिकरा विपक्ष पर फोडा जायेगा
Mahender Singh Hans
*मरने का हर मन में डर है (गीतिका)*
Ravi Prakash
चाहतें है राहतें है।
Taj Mohammad
अनवरत सी चलती जिंदगी और भागते हमारे कदम।
Manisha Manjari
Loading...