Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

मेहमान बनकर आए और दुश्मन बन गए ..

दरअसल देश तो है यह भारत वर्ष ,
आर्यन अर्थात हिंदुओं का ।
बाकी संप्रदाय तो यहां थे मेहमान बनकर आए,
जाने कुछ खोट था नियत का ।
मेहमान बनके आए और कब्जा जमा लिया ,
नाम न लिया वापिस फिर जाने का ।
कुछ तो वापिस चले भी गए ,
मगर उम्र भर का दाग देकर ,
और कुछ सब कुछ लूटकर ।
नाम भी बदलकर रख दिया हमारे देश का ।
भारत से इंडिया और फिर हिंदुस्तान बन गया ,
रिवाज बनाना पड़ा सांप्रदायिक सद्भावना का ।
मगर फिर भी यह तो एकतरफा ही पक्ष रहा न !
मेहमान से छोटे भाई बने ,मगर ,
सलीका / तहजीब कौन सिखाए भाईचारे और प्रेम का।
यह नहीं ! के आ ही गए है तो शराफत से रहे ।
क्या मजा आता है बेवजह धर्म के नाम पर लड़ने का?
वोह है सबका मालिक एक ,हम सब संताने उसकी ।
रहते मिलजुलकर जहां यह देश ,,
जिसे नाम दिया हमने परिवार का ।
एक ही परिवार की तरह मिलजुलकर क्यों नहीं रहते तुम सब ?
क्यों नाम बदनाम करते है अपने घर परिवार का ।

2 Likes · 2 Comments · 124 Views
You may also like:
अब सुप्त पड़ी मन की मुरली, यह जीवन मध्य फँसा...
संजीव शुक्ल 'सचिन'
ये दूरियां मिटा दो ना
Nitu Sah
गंतव्य में पीछे मुड़े, अब हमें स्वीकार नहीं
Tnmy R Shandily
दरारों से।
Taj Mohammad
यह दुनियाँ
Anamika Singh
मौत ने की हमसे साज़िश।
Taj Mohammad
अखंड भारत की गौरव गाथा।
Taj Mohammad
एहसास में बे'एहसास की
Dr fauzia Naseem shad
यह सिर्फ़ वर्दी नहीं, मेरी वो दौलत है जो मैंने...
Lohit Tamta
सितम देखते हैं by Vinit Singh Shayar
Vinit kumar
ये मोहब्बत राज ना रहती है।
Taj Mohammad
तू बोल तो जानूं
Harshvardhan "आवारा"
भरमा रहा है मुझको तेरे हुस्न का बादल।
सत्य कुमार प्रेमी
*मृदुभाषी श्री ऊदल सिंह जी : शत-शत नमन*
Ravi Prakash
एक नज़म [ बेकायदा ]
DR ARUN KUMAR SHASTRI
ज़िंदगी में न ज़िंदगी देखी
Dr fauzia Naseem shad
यथार्था,,, दर्पणता,,, सरलता।
Taj Mohammad
मैं उनको शीश झुकाता हूँ
Dheerendra Panchal
यादें वो बचपन के
Khushboo Khatoon
प्यार का अलख
DESH RAJ
दुर्योधन कब मिट पाया:भाग:38
AJAY AMITABH SUMAN
ख़्वाब कोई
Dr fauzia Naseem shad
बदल जायेगा
शेख़ जाफ़र खान
आज का विकास या भविष्य की चिंता
Vishnu Prasad 'panchotiya'
✍️बंद मुठ्ठी लाख की✍️
'अशांत' शेखर
जिन्दगी।
Taj Mohammad
✍️हम भी कुछ थे✍️
'अशांत' शेखर
"खुद की तलाश"
Ajit Kumar "Karn"
राती घाटी
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
मिलन
Anamika Singh
Loading...