Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#14 Trending Author

मेरे पेड़- पौधे ,मेरे बच्चे ( विश्व पर्यावरण दिवस पर विशेष)

मेरी आंखों के तारे ,
मेरे दिल के सहारे ,
मेरा सपना ,
मेरा अरमान ,
मेरा जीवन ,
मेरे प्राण ,
मेरी छोटी सी बगिया के ,
प्यारे प्यारे पेड़ -पौधों ।
तुम पर मेरा जीवन निसार ,
मेरे हृदय का सम्पूर्ण प्यार ,
तुम ना रूठा करो मुझसे ,
तुम ना मुरझाया करो ,
तुम्हारे खिलते रहने से ,
तुम्हारे महकते रहने से ,
मेरे जीवन में बहार बनी रहती है ।
तुम निष्प्राण हो जाते हो ,
तो मुझमें भी जीने की इच्छा मर जाती है ।
तुम्हारा मुरझाया मुखमंडल देखकर ,
ह्रदय में बड़ी पीड़ा होती है ।
और यदि कोई तुम्हें क्षति पहुंचाने की ,
कोशिश भी करे ,
तो तुम्हारी यह मां तुम्हारे दुश्मनों से ,
भिड़ जाती है।
प्राणों को दाव पर लगा कर भी ,
अपने बच्चों की रक्षा करती है ।
शायद मां ऐसी ही होती है।
मैं रहूं या ना रहूं ,मेरा प्यार ,मेरा आशीष
हमेशा तुम पर रहेगा ।
मेरे पेड़ -पौधों ! मेरे बच्चों !
तुम सदा सुखी रहो ,
तुम पर सदा ईश्वर की कृपा यूं ही बनी रहे ।
तुम चिरंजीव रहो ।

6 Likes · 10 Comments · 365 Views
You may also like:
मनुष्यस्य शरीर: तथा परमात्माप्राप्ति:
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
✍️पाँव बढाकर चलना✍️
'अशांत' शेखर
✍️मुझे तेरी तलाश नहीं✍️
'अशांत' शेखर
Baby cries.
Taj Mohammad
कैसा हो सरपंच हमारा / (समसामयिक गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
दोस्ती अपनी जगह है आशिकी अपनी जगह
Dr.SAGHEER AHMAD SIDDIQUI
दिल की आरजू.....
Dr.Alpa Amin
मेरे प्यारे देशप्रेमियों
gurudeenverma198
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग४]
Anamika Singh
✍️अभी उलझे नहीं✍️
'अशांत' शेखर
अपनों से न गै़रों से कोई भी गिला रखना
Shivkumar Bilagrami
ग्रह और शरीर
Vikas Sharma'Shivaaya'
मेरी नेकियां।
Taj Mohammad
बे-इंतिहा मोहब्बत करते हैं तुमसे
VINOD KUMAR CHAUHAN
//स्वागत है:२०२२//
Prabhudayal Raniwal
चाँद ......
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
#मैं_पथिक_हूँ_गीत_का_अरु, #गीत_ही_अंतिम_सहारा।।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
खंडहर में अब खोज रहे ।
Buddha Prakash
मेरा वजूद
Anamika Singh
खता क्या हुई मुझसे
Krishan Singh
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग६]
Anamika Singh
बदल कर टोपियां अपनी, कहीं भी पहुंच जाते हैं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
मेरे हर सिम्त जो ग़म....
अश्क चिरैयाकोटी
✍️आरसे✍️
'अशांत' शेखर
जीवन और दर्द
Anamika Singh
लूं राम या रहीम का नाम
Mahesh Ojha
पानी कहे पुकार
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
कवि का कवि से
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
मैने देखा है
Anamika Singh
दया***
Prabhavari Jha
Loading...