Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Jun 9, 2021 · 1 min read

मेरे कविता से प्रेम

चंदा का चकोर से प्रेम,
पुष्प का मधुमक्खी से प्रेम,
सब चाहते ऐसा आभास
वसुंधरा में जिनका निवास ।
समझ नहीं पा रहा हूं,
समझा भी ना पाऊं ,
है , मेरे कविता से प्रेम ।

रवि का प्रकाश सागर में
है जीवन का आभास ।
मां के आंचल का स्नेह,
गर्मी में शीतलता का प्रसाद
है, मेरे कविता से प्रेम ।

छू सकूं जो नीला आसमां
जिसमे विचरण करते पंछी।
रहता ,संजोय नेत्र उत्कृष्ट सपना
अपनी रचना में दे सकेंगे प्राण।

थोड़ी बहुत परेशानी में
आस – पास का माहौल
मेरी कविताएं मुझको देती
मनोहर सा प्यारा एहसास ।।

गौतम साव

3 Likes · 4 Comments · 165 Views
You may also like:
तमाम उम्र।
Taj Mohammad
*हनुमान धाम-यात्रा*
Ravi Prakash
कायनात से दिल्लगी कर लो।
Taj Mohammad
♡ भाई-बहन का अमूल्य रिश्ता ♡
Dr.Alpa Amin
नाम लेकर भुला रहा है
Vindhya Prakash Mishra
पति पत्नी की नोक झोंक(हास्य व्यंग)
Ram Krishan Rastogi
जिन्दगी का सबक
Anamika Singh
हुनर बाज
Seema Tuhaina
काश मेरा बचपन फिर आता
Jyoti Khari
कोई न अपना
AMRESH KUMAR VERMA
मिलेंगे लोग कुछ ऐसे गले हॅंसकर लगाते हैं।
सत्य कुमार प्रेमी
ईद मनाते हैं।
Taj Mohammad
मेरी बेटियाँ
लक्ष्मी सिंह
अनामिका के विचार
Anamika Singh
टोकरी में छोकरी / (समकालीन गीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
*** तेरी पनाह.....!!! ***
VEDANTA PATEL
शिकायत कुछ नहीं
Dr fauzia Naseem shad
डिजिटल इंडिया
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
भगवान हमारे पापा हैं
Lucky Rajesh
एक दिन तू भी।
Taj Mohammad
एक फूल खिलता है।
Taj Mohammad
मां तो मां होती है ( मातृ दिवस पर विशेष)
ओनिका सेतिया 'अनु '
सरहद पर रहने वाले जवान के पत्नी का पत्र
Anamika Singh
गुमान
AJAY AMITABH SUMAN
हमें अब राम के पदचिन्ह पर चलकर दिखाना है
Dr Archana Gupta
राजनेता
Aditya Prakash
✍️किसान के बैल की संवेदना✍️
"अशांत" शेखर
वार्तालाप….
Piyush Goel
*** घर के आंगन की फुलवारी ***
Swami Ganganiya
पिता की नसीहत
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
Loading...