Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
4 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-339💐

मेरे इश्क़ को किसी फ़लक तक उड़ने न दिया,
ज़िंदगी के साथ पर,लम्हें तक भी साथ न दिया,
कहा होगा रोज़ आते जाते हैं तुम्हारे जैसे लोग,
नया क्या है,कहकर बे-एतिबार ही कह दिया।।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
63 Views
Join our official announcements group on Whatsapp & get all the major updates from Sahityapedia directly on Whatsapp.
You may also like:
राजनीति अब धुत्त पड़ी है (नवगीत)
राजनीति अब धुत्त पड़ी है (नवगीत)
Rakmish Sultanpuri
तेरे दिल में कब आएं हम
तेरे दिल में कब आएं हम
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Mahadav, mera WhatsApp number save kar lijiye,
Mahadav, mera WhatsApp number save kar lijiye,
Ankita Patel
गद्दार है वह जिसके दिल में
गद्दार है वह जिसके दिल में
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
रिश्तों की मर्यादा
रिश्तों की मर्यादा
Rajni kapoor
हर शय¹ की अहमियत होती है अपनी-अपनी जगह
हर शय¹ की अहमियत होती है अपनी-अपनी जगह
_सुलेखा.
Almost everyone regard this world as a battlefield and this
Almost everyone regard this world as a battlefield and this
Nav Lekhika
सिलवटें आखों की कहती सो नहीं पाए हैं आप ।
सिलवटें आखों की कहती सो नहीं पाए हैं आप ।
Prabhu Nath Chaturvedi
निरंतर खूब चलना है
निरंतर खूब चलना है
surenderpal vaidya
कितना सकून है इन , इंसानों  की कब्र पर आकर
कितना सकून है इन , इंसानों की कब्र पर आकर
श्याम सिंह बिष्ट
#प्यार...
#प्यार...
Sadhnalmp2001
*पुरस्कार का पात्र वही, जिसका संघर्ष नवल हो (मुक्तक)*
*पुरस्कार का पात्र वही, जिसका संघर्ष नवल हो (मुक्तक)*
Ravi Prakash
बस का सफर
बस का सफर
Ms.Ankit Halke jha
हमारा ऐसा हिंदुस्तान।
हमारा ऐसा हिंदुस्तान।
Satish Srijan
ग्रीष्म ऋतु भाग ३
ग्रीष्म ऋतु भाग ३
Vishnu Prasad 'panchotiya'
जो भी मिलता है दिलजार करता है
जो भी मिलता है दिलजार करता है
कवि दीपक बवेजा
मैं और मेरा यार
मैं और मेरा यार
Radha jha
अपनी समस्या का
अपनी समस्या का
Dr fauzia Naseem shad
कलम के सहारे आसमान पर चढ़ना आसान नहीं है,
कलम के सहारे आसमान पर चढ़ना आसान नहीं है,
Dr Nisha nandini Bhartiya
Ahsas tujhe bhi hai
Ahsas tujhe bhi hai
Sakshi Tripathi
🌺प्रेम कौतुक-201🌺
🌺प्रेम कौतुक-201🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
वाणशैय्या पर भीष्मपितामह
वाणशैय्या पर भीष्मपितामह
मनोज कर्ण
■ आज का दोहा
■ आज का दोहा
*Author प्रणय प्रभात*
फांसी के तख्ते से
फांसी के तख्ते से
Shekhar Chandra Mitra
भोजपुरीया Rap (2)
भोजपुरीया Rap (2)
Nishant prakhar
ओ मेरी जान
ओ मेरी जान
gurudeenverma198
आईना...
आईना...
डॉ.सीमा अग्रवाल
सावधानी हटी दुर्घटना घटी
सावधानी हटी दुर्घटना घटी
Sanjay
आदत में ही खामी है,
आदत में ही खामी है,
Dr. Kishan tandon kranti
जीवन अनमोल है।
जीवन अनमोल है।
जगदीश लववंशी
Loading...