Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
#3 Trending Author
Jun 26, 2022 · 1 min read

मेरी हस्ती

कुछ लोग थे जो मेरी
हस्ती मिटाने में लगे हुए थे
उन्हें क्या पता कि
मेरी हस्ती मिटाना उनके
बस नही था।
वे लूटने के लिए बेकार की
मेहनत करते रहे
जबकि मेरे पास खोने को
कुछ भी नही था।

~अनामिका

5 Likes · 2 Comments · 85 Views
You may also like:
बहुत अच्छे लगते ( गीतिका )
Dr. Sunita Singh
बारिश की बूंद....
"धानी" श्रद्धा
मंजिल दूर है
Varun Singh Gautam
जालिम कोरोना
Dr Meenu Poonia
गम हो या हो खुशी।
Taj Mohammad
भारत की जाति व्यवस्था
AMRESH KUMAR VERMA
बदलती परम्परा
Anamika Singh
रात तन्हा सी
Dr fauzia Naseem shad
सुकुने अहसास।
Taj Mohammad
जुनू- जुनू ,जुनू चढा तेरे प्यार का
Swami Ganganiya
प्यार तुम्हीं पर लुटा दूँगा।
Buddha Prakash
I could still touch your soul every time it rains.
Manisha Manjari
माँ की याद
Meenakshi Nagar
मत भूलो देशवासियों.!
Prabhudayal Raniwal
ज़िन्दा रहना है तो जीवन के लिए लड़
Shivkumar Bilagrami
कुछ ना रहा
Nitu Sah
सुबह आंख लग गई
Ashwani Kumar Jaiswal
है रौशन बड़ी।
Taj Mohammad
मुझको मत दोष तुम देना
gurudeenverma198
आपके जाने के बाद
pradeep nagarwal
कलयुग का आरम्भ है।
Taj Mohammad
दिल तुम्हें
Dr fauzia Naseem shad
खुद से बच कर
Dr fauzia Naseem shad
काश ! तेरी निगाह मेरे से मिल जाती
Ram Krishan Rastogi
हरियाली और बंजर
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
बुंदेली दोहा-डबला
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
जब भी देखा है दूर से देखा
Anis Shah
मालूम था।
Taj Mohammad
राखी त्यौहार बंधन का - डी के निवातिया
डी. के. निवातिया
गीत -
Mahendra Narayan
Loading...