Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Settings
Sep 23, 2022 · 1 min read

मेरी पहली शिक्षिका मेरी माँ

मेरी पहली शिक्षिका मेरी माँ

क्या लिखूँ मैं तुझपर,
तु अलिखित कहानी है माँ,
तेरी दी हुई शिक्षा,
मुझे याद ज़बानी है माँ।

मैं कच्ची मिट्टी की भाँति,
तु कुम्हार पक्की है माँ,
रख चाक रूपी हाँथो में हाथ मेरा,
तू ही तो घड़ा सी बनाई है माँ।

शैशव अवस्था का वह क्षण,
जब एक शब्द भी न बोल पाती थी माँ
ता…. ता से पा…. पा बोलना,
तु ही तो सिखाती थी माँ।

हाँथो में लेकर हाथ मेरा,
एक एक कदम चलना सिखाती थी माँ
उल्टी चप्पल जब पहना करती थी,
उसे सीधा तु ही तो कराती थी माँ।

स्मरण करती हूँ जब उस क्षण को,
सर्व प्रथम तेरी ही याद आती है माँ,
जीवन की पहली शिक्षा ,
तुझसे ही तो पाई है माँ।

कुछ उल्टी गिनतियाँ,
करनी भी तूने सिखाई है मां ,
दो रोटियों को एक कहकर,
तूने ही तो खिलाई है माँ।

बचपन के व दिन जब तु ,
हमसे क्रोधित हो जाती थी माँ,
मुख से मौन रहकर,
आँखों के इशारे से ही डराती थी माँ।

तकलीफों में भी मुस्कुराना,
क्रोध आने पर मौन हो जाना,
मुश्किलों में न घबराना,
ये सारी बातें तूने ही सिखाई है माँ ।

अतुलनीय है प्रेम तेरा,
अब ये समझ आई है माँ,
मेरी जीवन की पहली शिक्षिका
तु ही तो कहलाई है माँ।

गौरी तिवारी
भागलपुर बिहार

3 Likes · 2 Comments · 25 Views
You may also like:
मिठाई मेहमानों को मुबारक।
Buddha Prakash
"निर्झर"
Ajit Kumar "Karn"
जब बेटा पिता पे सवाल उठाता हैं
Nitu Sah
ये कैसा धर्मयुद्ध है केशव (युधिष्ठर संताप )
VINOD KUMAR CHAUHAN
"अष्टांग योग"
पंकज कुमार कर्ण
पिता तुम हमारे
Dr. Pratibha Mahi
हमारी सभ्यता
Anamika Singh
इश्क करते रहिए
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
सोलह शृंगार
श्री रमण 'श्रीपद्'
बेजुबान और कसाई
मनोज कर्ण
आपकी तारीफ
Dr fauzia Naseem shad
बताओ तो जाने
Ram Krishan Rastogi
✍️गलतफहमियां ✍️
Vaishnavi Gupta
प्राकृतिक आजादी और कानून
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
दर्द इनका भी
Dr fauzia Naseem shad
मर्द को भी दर्द होता है
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
विश्व फादर्स डे पर शुभकामनाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
बिटिया होती है कोहिनूर
Anamika Singh
कौन था वो ?...
मनोज कर्ण
गुलामी के पदचिन्ह
मनोज कर्ण
यादों की बारिश का कोई
Dr fauzia Naseem shad
रिश्तों की डोर
मनोज कर्ण
बरसाती कुण्डलिया नवमी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
*!* दिल तो बच्चा है जी *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
पिता
Satpallm1978 Chauhan
बोझ
आकांक्षा राय
पिता आदर्श नायक हमारे
Buddha Prakash
One should not commit suicide !
Buddha Prakash
अनामिका के विचार
Anamika Singh
लाचार बूढ़ा बाप
jaswant Lakhara
Loading...