Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Settings

मेरा साजन आया सै(गीत) हरियाणवी

मेरा साजन आया सै (गीत) हरियाणवी

महका- महका सा सावन आया सै
मन्नै लाग्यै मेरा साजन आया सै

मस्त दीवानी सी बावली हीर झुमै
बाद मुद्दत के घर राझना आया सै

मेघा आओ ना तुम पानी बरसाओ
और न तरसाओ मेरा बलमा आया सै

ताल- नदी सब गीत संगीत सुनाती
लहरे अंगडाई लेती, भरतार आया सै

फसले खोण लगी जवानी, बिन पानी
धरती हरी-भरी भरी , सावन आया सै

इबकै बरस बरसो मेघा म्हारे गांवों में
झुम- झुम कै बरसाओ सावन आया सै
शीला गहलावत सीरत
चण्डीगढ़, हरियाणा

2 Likes · 2 Comments · 368 Views
You may also like:
दया करो भगवान
Buddha Prakash
नदी बन जा तू
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
वृक्ष थे छायादार पिताजी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
आतुरता
अंजनीत निज्जर
सत्यमंथन
मनोज कर्ण
कैसे गाऊँ गीत मैं, खोया मेरा प्यार
Dr Archana Gupta
आंसूओं की नमी का क्या करते
Dr fauzia Naseem shad
राम घोष गूंजें नभ में
शेख़ जाफ़र खान
विश्व फादर्स डे पर शुभकामनाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
रावण - विभीषण संवाद (मेरी कल्पना)
Anamika Singh
सच और झूठ
श्री रमण 'श्रीपद्'
पिता का सपना
Prabhudayal Raniwal
पिता की छांव
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
बेटियां
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
छलकता है जिसका दर्द
Dr fauzia Naseem shad
चलो दूर चलें
VINOD KUMAR CHAUHAN
पिता
Ram Krishan Rastogi
दर्द इनका भी
Dr fauzia Naseem shad
ठोकरों ने समझाया
Anamika Singh
सत्य कभी नही मिटता
Anamika Singh
वो बरगद का पेड़
Shiwanshu Upadhyay
सपना आंखों में
Dr fauzia Naseem shad
बस एक निवाला अपने हिस्से का खिला कर तो देखो।
Gouri tiwari
✍️जरूरी है✍️
Vaishnavi Gupta
पापा जी
सत्येन्द्र पटेल ‘प्रखर’
पिता
Manisha Manjari
औरों को देखने की ज़रूरत
Dr fauzia Naseem shad
मेरे पिता है प्यारे पिता
Vishnu Prasad 'panchotiya'
पत्नि जो कहे,वह सब जायज़ है
Ram Krishan Rastogi
दो जून की रोटी
Ram Krishan Rastogi
Loading...