#10 Trending Author
May 14, 2022 · 1 min read

मेरा ना कोई नसीब है।

मेरा कोई ना नसीब है।
किस्मत भी बड़ी गरीब है।।1।।

यूं आजमाइशे है बहुत।
जिंदगी गमों के करीब है।।2।।

किसको क्या मिला है।
अपना-अपना नसीब है।।3।।

थोडा सा मजबूर हूं मैं।
क्योंकि दोस्त रकीब है।।4।।

गुनाह करके बच गए।
कहने को बस शरीफ है।।5।।

मांगने को तो मांग लूं।
पर जिंदा मेरा ज़मीर है।।6।।

ताज मोहम्मद
लखनऊ

27 Views
You may also like:
सही दिशा में
Ratan Kirtaniya
पुस्तकों की पीड़ा
Rakesh Pathak Kathara
My Expressions
Shyam Sundar Subramanian
🔥😊 तेरे प्यार ने
N.ksahu0007@writer
हवलदार का करिया रंग (हास्य कविता)
दुष्यन्त 'बाबा'
बाबा की धूल
Dr. Arti 'Lokesh' Goel
मुकरिया__ चाय आसाम वाली
Manu Vashistha
मुक्तक- जो लड़ना भूल जाते हैं...
आकाश महेशपुरी
हर अश्क कह रहा है।
Taj Mohammad
पितु संग बचपन
मनोज कर्ण
Is It Possible
Manisha Manjari
दुआएं करेंगी असर धीरे- धीरे
Dr Archana Gupta
तजर्रुद (विरक्ति)
Shyam Sundar Subramanian
तुम और मैं
Ram Krishan Rastogi
मूक प्रेम
Rashmi Sanjay
चढ़ता पारा
जगदीश शर्मा सहज
* प्रेमी की वेदना *
Dr. Alpa H.
जो मौका रहनुमाई का मिला है
Anis Shah
पिता
रिपुदमन झा "पिनाकी"
दिल टूट करके।
Taj Mohammad
सत् हंसवाहनी वर दे,
Pt. Brajesh Kumar Nayak
*!* हट्टे - कट्टे चट्टे - बट्टे *!*
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
#क्या_पता_मैं_शून्य_न_हो_जाऊं
D.k Math
💐प्रेम की राह पर-27💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
इतना शौक मत रखो इन इश्क़ की गलियों से
Krishan Singh
तेरे संग...
Dr. Alpa H.
खेतों की मेड़ , खेतों का जीवन
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
ये चिड़िया
Anamika Singh
मैं बहती गंगा बन जाऊंगी।
Taj Mohammad
अमर कोंच-इतिहास
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Loading...