Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
19 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-479💐

मेरा चलना उनके दिल में,उनका चलना मेरे दिल में,
मेरा मचलना उनके दिल में,उनका मचलना मेरे दिल में,
ये सब काफ़िया मेरा है,मेरे हुजूर कुछ बोलते नहीं,
मेरा दिल है उनके दिल में,उनका दिल है मेरे दिल में।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
Tag: Hindi Quotes, Quote Writer
5 Views
You may also like:
जनता की आवाज़
जनता की आवाज़
Shekhar Chandra Mitra
■ मुक्तक / सर्दी में गर्मी के लिए
■ मुक्तक / सर्दी में गर्मी के लिए
*Author प्रणय प्रभात*
जीवन अस्तित्व
जीवन अस्तित्व
Shyam Sundar Subramanian
तांका
तांका
Ajay Chakwate *अजेय*
आए आए अवध में राम
आए आए अवध में राम
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
ख्वाहिश
ख्वाहिश
अमरेश मिश्र 'सरल'
कटी नयन में रात...
कटी नयन में रात...
डॉ.सीमा अग्रवाल
स्याह रात मैं उनके खयालों की रोशनी है
स्याह रात मैं उनके खयालों की रोशनी है
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
Pal bhar ki khahish ko jid bna kar , apne shan ki lash uthai
Pal bhar ki khahish ko jid bna kar , apne...
Sakshi Tripathi
कुकुरा
कुकुरा
Sushil chauhan
बादलों ने ज्यों लिया है
बादलों ने ज्यों लिया है
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
सुप्रभातं
सुप्रभातं
Dr Archana Gupta
हाइकु:-(राम-रावण युद्ध)
हाइकु:-(राम-रावण युद्ध)
Prabhudayal Raniwal
कविता
कविता
Vandana Namdev
मुझे तरक्की की तरफ मुड़ने दो,
मुझे तरक्की की तरफ मुड़ने दो,
Satish Srijan
पूर्वज
पूर्वज
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
'क्या लिखूँ, कैसे लिखूँ'?
'क्या लिखूँ, कैसे लिखूँ'?
Godambari Negi
मुक्तक व दोहा
मुक्तक व दोहा
अरविन्द व्यास
आशाओं के दीप जलाए थे मैने
आशाओं के दीप जलाए थे मैने
Ram Krishan Rastogi
हम भूल गए सच में, संस्कृति को
हम भूल गए सच में, संस्कृति को
gurudeenverma198
बेटियों की जिंदगी
बेटियों की जिंदगी
AMRESH KUMAR VERMA
दरमियां लफ़्ज़ों का
दरमियां लफ़्ज़ों का
Dr fauzia Naseem shad
उम्मीद नहीं थी
उम्मीद नहीं थी
Surinder blackpen
🌹लाफ्टर थेरेपी!हे हे हे हे यू लाफ्टर थेरेपी🌹
🌹लाफ्टर थेरेपी!हे हे हे हे यू लाफ्टर थेरेपी🌹
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
* नियम *
* नियम *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पैसा  (कुंडलिया)*
पैसा (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
दुकान में रहकर सीखा
दुकान में रहकर सीखा
Ankit Halke jha
वही इब्तिदा वही इन्तिहा थी।
वही इब्तिदा वही इन्तिहा थी।
Taj Mohammad
सड़क सुरक्षा पर दोहे
सड़क सुरक्षा पर दोहे
शांतिलाल सोनी
विश्वास की मंजिल
विश्वास की मंजिल
Buddha Prakash
Loading...