Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
14 Sep 2022 · 1 min read

मुहब्बत का मसीहा

ओय सारिका,
दौलत के नशे में
तुमने मुझे
जब अपनाने से
इंकार किया
ख़ुद ही को
अपना यार बनाया
और ख़ुद ही से
मैंने प्यार किया…
(१)
जिस हुस्न को
ढूंढ़ा करता था
मैं तुम्हारी अदाओं में
जिस इश्क़ को
मांगा करता था
मैं अक़्सर दुआओं में
आंखें मूंद कर
अपने भीतर
एक शाम उसका
दीदार किया…
(२)
जो बात पहले
बस दिल में थी
आने लगी अब ग़ज़लों में
मेरे दर्द को
सारी दुनिया
गाने लगी अब नगमों में
अपने टूटे हुए
ख़्वाबों का
मैंने लफ़्ज़ों में
इज़हार किया…
(३)
वैसे तो तुम्हारे
आने का
वादा नहीं था कोई भी
मेरे साथ वक़्त
बीताने का
इरादा नहीं था कोई भी
फिर भी
कितनी बेताबी से
मैंने देर तक
इंतज़ार किया…
#Geetkar
Shekhar Chandra Mitra
#प्रेम #romanticsong #गीतकार #सुफी #lyrics #मुहब्बत #sprituality #sufism #फकीर #सुफियाना #इश्क #मुहब्बत #मसीहा

Language: Hindi
Tag: गीत
1 Like · 52 Views
You may also like:
२४२. पर्व अनोखा
MSW Sunil SainiCENA
महाकवि
Shekhar Chandra Mitra
बेजुबान और कसाई
मनोज कर्ण
तुम मेरे मालिक मेरे सरकार कन्हैया
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
सही मार्ग अपनाएँ
Anamika Singh
उड़ चले नीले गगन में।
Taj Mohammad
✍️सब्र कर✍️
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
जितनी बार निहारा उसको
Shivkumar Bilagrami
अलाव
Kaur Surinder
हर्फ ए मुश्किल है यूं आसान न समझा जाए
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
शख्सियत - मॉं भारती की सेवा के लिए समर्पित योद्धा...
Deepak Kumar Tyagi
पितृ देव
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
दूर निकल आया हूँ खुद से
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
*जीवन की अंतिम घटना है मृत्यु (हास्य-व्यंग्य-विचार)*
Ravi Prakash
हक़ीक़त
Shyam Sundar Subramanian
मेरी बनारस यात्रा
विनोद सिल्ला
श्याम नाम
लक्ष्मी सिंह
नहीं रहता
shabina. Naaz
◆संसारस्य संयोगः अनित्यं च वियोगः नित्य च ◆
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
कुछ मुक्तक...
डॉ.सीमा अग्रवाल
Book of the day: काव्य मंजूषा (एक काव्य संकलन)
Sahityapedia
■ और क्या बोलें.....?
*Author प्रणय प्रभात*
अंगार
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
श्याम बैरागी : एक आशुकवि अरण्य से जन-जन, फिर सिने-रत्न...
Shyam Hardaha
भूल जाने की क्या ज़रूरत थी
Dr fauzia Naseem shad
जहां पर रब नही है
अनूप अंबर
" मेरी प्यारी नींद"
Dr Meenu Poonia
दर्द ए हया को दर्द से संभाला जाएगा
कवि दीपक बवेजा
भटकता चाँद
Alok Saxena
पुराने खत
sangeeta beniwal
Loading...